हिमाचल पहुँची उपचुनावों की सुरक्षा का जिम्मा संभालने के लिए 6 पैरामिलिट्री टुकड़ियां

शिमला: हिमाचल प्रदेश में होने वाले मंडी लोकसभा सहित फतेहपुर अर्की व जुब्बल कोटखाई विधानसभा उपचुनाव पर सुरक्षा कर्मियों की कड़ी निगरानी रहेगी। उपचुनावों की सुरक्षा का जिम्मा संभालने के लिए 6 पैरामिलिट्री टुकड़ियां हिमाचल पहुँच चुकी है, जिन्हें विभिन्न जिलों में बांट दिया गया है और उन्हें सुरक्षा और निगरानी का ज़िम्मा सौंपा गया है।

हिमाचल निर्वाचन अधिकारी सी पालरसु ने शिमला में आयोजित पत्रकार वार्ता में जानकारी देते हुए बताया कि उपचुनावों की सुरक्षा का जिम्मा संभालने के लिए 6 पैरामिलिट्री टुकड़ियां हिमाचल पहुंच चुकी हैं, जिन्हें विभिन्न जिलों में बांट दिया गया है और उन्हें सुरक्षा और निगरानी का ज़िम्मा सौंपा गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश मे 148 सवेंदनशील मतदान केंद्र और ईवीएम की सुरक्षा का जिम्मा भी पैरामिलिट्री फोर्स को दिया गया है। पालरासू ने बताया कि प्रदेश के कुल 2749 मतदान केंद्र में से 40 मतदान केंद्रों को केवल महिलाओं द्वारा संचालित किया जाएगा। विधानसभा का चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार के लिए ख़र्चे की अधिकतम राशि 30.70 लाख रुपए रखी गई है। जबकि लोकसभा में ये राशि 77 लाख रखी गई है। इन चार उपचुनावों में 15.3 लाख वोटर चयनित किए गए है। जिनमें मंडी में 13 लाख वोटर है। फतेहपुर के 87 हज़ार, अर्की में 92600 व जुब्बल में 71 हज़ार वोटर हैं। 40 मतदान केंद्र केवल महिलाएं ही संचालित करेंगी। उन्होंने बताया कि 50 फ़ीसदी पोलिंग स्टेशन को वेब से जोड़ा गया है।इन पोलिंग स्टेशन में 148 संदनशील हैं। अभी तक इन चुनावों के दौरान कर्मचारियों की शिकायतें 23 आई हैं। जिनमें से 12 पेंडिंग हैं। 11 डिस्पोज़ हुई हैं।आदर्श चुनाव आचार सहिंता को लेकर 2 शिकायतें भी उनके पास पहुँची है। जो पुलिस को जांच के लिए भेज दी गई हैं। आयोग पेड न्यूज पर कड़ी निगरानी रख रहा है। उन्होंने बताया किनमंडी में 32077 नए वोटर , फ़तेहपुर 2069, अर्की 2564, जुब्बल कोटखाई 1595 नए वोटर बने है। इनमें से 18054 दिव्यांग वोटर है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *