मुख्यमंत्री ने रखी विकासनगर में कार पार्किंग की आधारशिला

राज्य सरकार नगर निगम को हर संभव सहायता उपलब्ध करवाने के लिए वचनबद्ध :मुख्यमंत्री

  • मुख्यमंत्री ने रखी विकासनगर में कार पार्किंग की आधारशिला
  •  प्रदेश सरकार शहर के लोगों को पार्किंग सुविधा उपलब्ध करवाने पर सर्वोच्च प्राथमिकता कर रही है प्रदान
  • वीरभद्र सिंह ने विकासनगर में नए औषधालय तथा खेल मैदान को विकसित करने की घोषणा
  • दस मंजिला बहुउद्देशीय परिसर में सात मंजिलों में पार्किंग सुविधा तथा तीन मंजिलें व्यावसय सभी आधारभूत सुविधाएं जैसे आग से बचाव, स्टेयर केस सहित अन्य सभी आधारभूत सुविधाएं होगी उपलब्ध

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज विकासनगर में 20 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली कार पार्किंग व व्यावसायिक परिसर की आधारशिला रखी।

नगर निगम शिमला के अधीन इस विशाल परियोजना का निर्माण बीओटी के आधार पर रूद्रा इन्फ्रास्ट्रक्चर द्वारा किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस दस मंजिला बहुउद्देशीय परिसर में सात मंजिलों में पार्किंग सुविधा तथा तीन मंजिलें व्यावसय सभी आधारभूत सुविधाएं जैसे आग से बचाव, स्टेयर केस सहित अन्य सभी आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध होगी। इस कार पार्किंग में 175 छोटे वाहनों को खड़ा करने की सुविधा उपलब्ध होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार शहर के लोगों को पार्किंग सुविधा उपलब्ध करवाने पर सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान कर रही है ताकि शहर में लगने वाले ट्रैफिक जाम से राहत मिल सके। उन्होंने कहा कि सरकार ने संजौली में भी कार पार्किंग सुविधा उपलब्ध करवाई है और इसी प्रकार अन्तरराजयीय बस अड्डा टूटीकंडी तथा लिफ्ट के नजदीक बड़ी पार्किंग विकसित की जा रही है। उन्होंने कहा कि आंगतुकों की सुविधा के लिए शहर में इसके अलावा वैकल्पिक परिवहन सुविधा रज्जू मार्ग को भी विकसित किया जा रहा है।

वीरभद्र सिंह ने विकासनगर में नए औषधालय तथा खेल मैदान को विकसित करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार नगर निगम को हर संभव सहायता उपलब्ध करवाने के लिए वचनबद्ध है ताकि वे नागरिकों को आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवा सके। उन्होंने कहा कि शिमला शहर न केवल धरोहर के रूप में जाना जाता है, बल्कि अपने नैसर्गिक सौन्दर्य व साफ स्वच्छ वातावरण के लिए भी विख्यात है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वे सफाई व्यवस्था बनाए रखने में अपना सहयोग दे ताकि शिमला शहर की विरासत को बनाया रखा जा सके।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *