मण्डी संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह व जुब्बल में रोहित ठाकुर ने भरे नामांकन

शिमला: मण्डी संसदीय क्षेत्र से पार्टी प्रत्याशी प्रतिभा सिंह व जुब्बल में रोहित ठाकुर ने आज अपने-अपने नामांकन दाखिल किए। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने ढोल नगाड़ों से खुशी व्यक्त की।
 नामांकन के बाद पत्रकारों से बातचीत में प्रतिभा सिंह ने कहा कि यह मंडी की जनता फैसला करेगी कि किसे चुनना है। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रत्याशी कुशाल चंद ने बतौर सैनिक जो देश सेवा की है, वह सराहनीय है, लेकिन यह आर्मी का मैदान नहीं, राजनीतिक अखाड़ा है। 

इसके बाद रैली सेरी मंच पर पहुंची। प्रतिभा सिंह अपने संबोधन में स्वर्गीय वीरभद्र सिंह को याद किया। कहा कि सेरी मंच की शोभा वीरभद्र सिंह से होती थी। आज भीड़ में भी उनकी कमी खली। उन्होंने हर विकट स्थिति में हाथ थामे रखा। मैं चुनाव नहीं लड़ना चाहती थी, लेकिन आप लोगों के कहने से मैदान में उतरी हूं। प्रचार के लिए बीस दिन ही मिले हैं। मंडी संसदीय क्षेत्र बहुत बड़ा है। हर जगह पहुंचना मुश्किल है। 

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि मंडी का उपचुनाव किसी व्यक्ति विशेष या क्षेत्रवाद पर नहीं है। भाजपा इसे मुख्यमंत्री के नाम से जोड़ रही है। यह चुनाव महंगाई और बेरोजगारी पर है। इस चुनाव का असर 2022 के चुनावों पर पडे़गा। यह सत्ता का सेमीफाइनल है। महंगाई चरम पर है। जब 200 रुपये लीटर सरसों के तेल का तड़का लगता है तो महिलाओं के आंसू निकलते हैं। महंगाई, बेरोजगारी बढ़ रही है। बाहरी राज्य के युवाओं को नौकरियां दी जा रही हैं। मुझे कर्मचारी विरोधी कहा गया, लेकिन ऐसा नहीं है। जितना कर्मचारियों के लिए कांग्रेस और स्वर्गीय वीरभद्र ने किया है, उतना किसी ने नहीं किया। कभी-कभी बंद आंखों और कानों को खोलने के लिए विस्फोट की जरूरत है।

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि नए दौर की शुरुआत होने जा रही है। नामांकन रैली के दौरान सीएम के संबोधन पर उन्होंने कहा कि कल भी कुछ लोग बोलने आए थे, वो बोल गए। अब हम उन्हें खामोश बोलने आए हैं। सीएम धमकाना बंद करें। कांग्रेस प्रतिभा सिंह और विक्रमादित्य सिंह के साथ खड़ी है। एक बार ललकारें तो सहीं। जयराम ने चार साल तक कुछ नहीं किया। सिर्फ हेलीकाप्टर उड़ाया। सड़क के बुरे हाल हैं। आप हेलीकाप्टर से उतरे ही नहीं। असल विकास वीरभद्र ने करवाया है। इसलिए जयराम धमकाना बंद करें।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

33  +    =  34