महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्षा रश्मिधर सूद ने की भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश कार्यकारणी की घोषणा

मुकेश अग्निहोत्री का ब्यान पूरी तरह से असत्य एवं भ्रामक : डा बिन्दल

  • प्रदेश में औद्योगिक विकास पूरी तरह ठप्प हो चुका है : बिन्दल
  • उद्योगों का पलायन लगातार पिछले 2 वर्षों से जारी
डा. राजीव बिन्दल

डा. राजीव बिन्दल

शिमला : डा. राजीव बिन्दल प्रदेश महामन्त्री भाजपा व पूर्व स्वास्थ्य मन्त्री एवं विधायक नाहन ने एक प्रैस विज्ञप्ति के माध्यम् से कहा कि वर्तमान सरकार के मन्त्री अपने विधानसभा क्षेत्रों के मन्त्री बन कर रह गए हैं। सुधीर शर्मा की कार्यशैली पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि यदि हिमाचल प्रदेश के एक नगर को केन्द्र सरकार की विशेष सहायता मिलनी है और उसका सर्वांगीण विकास होना है तो उसमें भी सुधीर जी द्वारा धर्मशाला का ही चयन कराया गया उन्हें प्रदेश के अन्य महत्वपूर्ण शहर नजर ही नहीं आते।

सुधीर शर्मा ने विशेष कैबिनेट के जरिए धर्मशाला को कारपोरेशन का दर्जा दिए जाने की घोषणा की है। ऐसे में भी उन्हें प्रदेश का कोई अन्य शहर नजर नहीं आया। डा. बिन्दल ने कहा कि यदि धर्मशाला को कारपोरेशन बनाया जा सकता है तो सोलन, मण्डी, हमीरपुर, नाहन, ऊना को कारपोरेशन क्यों नहीं बनाया जा सकता। सोलन की जनसंख्या सर्वाधिक है, नाहन हिमाचल प्रदेश की सबसे पुरानी और देश की दूसरी नगर पालिका है।

डा. बिन्दल ने आरोप लगाया कि हिमाचल प्रदेश के नगर, सुविधाओं के आभाव में जी रहे हैं, परिषदों के पास सफाई व्यवस्था, रास्ते निर्माण, स्ट्रीट लाईट व अन्य सुविधाओं के दृष्टीगत् धन का आभाव है। डा. बिन्दल ने कहा कि ढाई वर्ष पूर्व विधानसभा में सुधीर शर्मा ने नाहन नगर को सीवरेज के 19 करोड़ रू. उपलब्ध कराने का वायदा किया था। आज ढाई वर्ष बीत जाने पर भी एक फूटी कौड़ी नहीं मिली है और दोबारा घोषणा की गई है कि प्रदेश के सभी शहरों को सीवरेज की सुविधा दी जाऐगी। डा. बिन्दल ने आरोप लगाया कि मुकेश अग्निहोत्री का ब्यान गुमराह करने वाला है। सिरमौर जिला के कालाअम्ब व पांवटा साहिब के अनेक बड़े-बड़े उद्योग बंद हो गए है, शेष बन्द होने के कगार पर है, हजारों युवक बेरोजगार हो गए है। हां यह तो हो सकता है कि उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र में उद्य़ोग लगाने की जगह तय कर ली हो, इसका अर्थ यह नहीं है कि प्रदेश में उद्योग आ रहे है। पूरी कांग्रेस पार्टी की विकास की परिभाषा ही विकृत हो चुकी है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *