पैराग्लाईडिंग वर्ल्ड कप में विशेष बच्चे भी भरेंगे उड़ान

पैराग्लाईडिंग वर्ल्ड कप में विशेष बच्चे भी भरेंगे उड़ान

शिमला: हिमाचल प्रदेश में पैराग्लाईडिंग प्रतियोगिता के इतिहास में यह पहला मौका होगा, जब कांगड़ा जिले के बीलिंग में आयोजित होने वाले पैराग्लाईडिंग वर्ल्ड कप-2015 में विशेष बच्चों को अनुभवी पायलटों के साथ ‘टैंडम फलाईटस’ का मिलेगा।

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज यहां यह जानकारी देते हुए कहा कि कुछ अनुभवी भारतीय और अन्तरराष्ट्रीय पायलटों को इन बच्चों को ‘टैंडम फलाईटस’ पर ले जाने के लिए सूचीबद्ध किया गया है। वीरभद्र सिंह ने कहा कि कई पश्चिमी देशों में विशेष बच्चों एवं वयस्कों के लिए इस तरह की विशेष पैराग्लाईडिंग की सुविधा उपलब्ध होती है, लेकिन भारत ने यह पहली बार किया जा रहा है, जिसके लिए इन बच्चों से इसके लिए कोई शुल्क वसूला नहीं जाएगा।

उन्होंने कहा कि खेलों में रूचि रखने वाले विशेष बच्चों के लिए इस तरह के विशेष आयोजन नियमित वार्षिक आधार पर होंगे। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों से भी बच्चों को समय-समय पर इस तरह के विशेष अनुभव के लिए लाने पर विचार किया जाएगा। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) प्रतियोगिता का मुख्य आयोजक होगा और प्रतियोगिता का नाम एएआई पैराग्लाईडिंग वर्ल्ड कप-2015 रखा गया है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *