प्रदेश को बिहार नहीं बनने दिया जाएगा : राठौर

शिमला:  कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने गत दिनों कुल्लू में एक दलित दम्पति पर हुए जानलेवा हमले की न्यायिक जांच की मांग है। उन्होंने प्रदेश की लचर कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा है कि आज भाजपा के शासन में देश प्रदेश में दलितों के साथ बड़ा अन्याय हो रहा है।दलित समाज मे असुरक्षा की भावना फैलती जा रही है।कांग्रेस यह अन्याय सहन नहीं करेगी और इसके खिलाफ आवाज उठाई जाएगी।
प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में आयोजित एक पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए राठौर ने कुल्लू में पूर्व सैनिक, पूर्व प्रधान परस राम और उसकी पत्नी पर हुए जानलेवा हमले की भर्त्सना करते हुए कहा कि इस घटना से प्रदेश शर्मशार हुआ है। उन्होंने कहा कि परस राम इस हमले में अपनी जिंदगी की जंग हार गए, जबकि उनकी पत्नी अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है। उन्होंने कहा कि वह स्वम् पीड़ित महिला से मिल कर आये है और जिस बर्बता का पीड़ित महिला ने उन्हें बताया वह स्तब्ध है। उन्होंने कहा कि इस हमले के दौरान उनके कपड़े तक फाड़े गए। उन्होंने कहा कि उन्होंने पहले ही पुलिस को इस बारे एक शिकायत पत्र दिया था,पर पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की। उन्होंने कहा कि सत्ता से जुड़े कुछ प्रभावशाली लोग इस मामले को रफादफा करने के लिए दबाव बना रहे है।
राठौर ने कहा कि अगर सरकार ने इस मामलें को दबाने का कोई भी प्रयास किया या दोषियों को बचाने की कोशिश की तो कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी।उन्होंने कहा कि वह जल्द ही इस मामले को लेकर राज्यपाल से भी मिलेंगे और न्याय की मांग करेंगे।
इस दौरान उनके साथ प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विधायक डॉ.कर्नल धनीराम शांडिल,पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप कुमार, कांग्रेस उपाध्यक्ष गंगू राम मुसाफिर,विधायक नन्दलाल,व डॉ.बीरू राम किशोर भी उपस्थित थे।
डॉ.कर्नल धनीराम शांडिल ने इस दौरान कहा कि प्रदेश में दलित समाज पर हो रहे अत्याचार सहन नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि कुल्लू की घटना में दलित समाज के उस व्यक्ति पर हुआ है जो एक पूर्व सैनिक भी था। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने जल्द ही मामले की जांच शुरू नही की तो वह दलित आयोग का भी दरवाजा खटखटाने से पीछे नहीं हटेंगे।
पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप कुमार ने कहा कि प्रदेश को बिहार नहीं बनने दिया जाएगा,जहां आये दिनों दलितों पर घोर अत्याचार होते है।
गंगू राम मुसाफिर ने कहा कि इस हमले से प्रदेश में कानून व्यवस्था की पूरी पोल खुल गई है।उन्होंने कहा कि भाजपा के शासन में दलितों पर अत्याचार बड़े है और यह बहुत ही दुखदाई है।
विधायक नन्द लाल ने कहा कि इस घटना से प्रदेश में दलितों की सुरक्षा पर एक बड़ा सवाल खड़ा हो गया है। सरकार दलित समाज की रक्षा करने में पूरी तरह विफल रही है।
डॉ.बीरू राम किशोर ने कहा कि कांग्रेस एकजुटता के साथ प्रदेश में किसी भी वर्ग के साथ अन्याय सहन नहीं करेगी। उन्होंने कुल्लू की दर्दनाक घटना पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश कांग्रेस पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए उनके साथ खड़ी है।

कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने प्रदेश विधानसभा के स्वर्ण जयंती पर आयोजित विशेष सत्र में प्रदेश के विकास में कांग्रेस नेताओं के नाम तक न लेने पर हैरानी जताई है।उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी, राजीव गांधी व डॉ.मनमोहन सिंह ने प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है इसलिए इस विशेष सत्र में उन्हें विशेष तौर पर याद किया जाना चाहिए था।उन्होंने कहा कि 26 जनवरी 1971 का वह स्वर्णिम दिन जब भारी बर्फबारी के बीच तत्कालीन प्रधानमंत्री स्व.इंदिरा गांधी ने प्रदेश के पूर्ण राज्य का दर्जा दिया था,उन्हें विशेष तौर पर याद किया जाना चाहिए था।
राठौर ने कहा इसी तरह प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री डॉ.यशवंत सिंह परमार ने जहां इस प्रदेश की नींव रखी थी वही उसके पश्चात राम लाल ठाकुर व उसके बाद विशेष तौर पर प्रदेश के छह बार के मुख्यमंत्री स्व. वीरभद्र सिंह ने इस प्रदेश को आधुनिक बनाया व इसे संवारा।
राठौर ने कहा कि रोहतांग टनल प्रदेश को तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ.मनमोहन सिंह की देन है जिन्होंने इसे पैसा उपलब्ध करवाया और तत्कालीन यूपीए अध्यक्ष  सोनिया गांधी ने इसकी आधारशिला रखी थी।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केवल इस टनल का उदघाटन किया है।उन्होंने कहा कि बड़े दुख की बात है कि रोहतांग टनल से सोनिया गांधी की शिलान्यास पटिका को हटा दिया गया ।उन्होंने कहा कि कांग्रेस के भारी विरोध के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आश्वासन दिया था कि उसे वही स्थापित कर दिया जाएगा। उसे उन्होंने आज दिन तक पूरा नहीं किया।उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग कि की वह अपना वायदा जल्द पूरा करे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  −  7  =  2