प्रदेश में नहीं बनेंगे नए प्रशासनिक जिलेः मुख्यमंत्री

प्रदेश में नहीं बनेंगे नए प्रशासनिक जिलेः मुख्यमंत्री

  • मुख्यमंत्री ने किया फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में 17 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं के शिलान्यास एवं लोकार्पण
  • मुख्यमंत्री की फतेहपुर में उपमण्डलाधिकारी कार्यालय खोलने की घोषणा
मुख्यमंत्री की फतेहपुर में उपमण्डलाधिकारी कार्यालय खोलने की घोषणा

मुख्यमंत्री की फतेहपुर में उपमण्डलाधिकारी कार्यालय खोलने की घोषणा

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज कांगड़ा जिले के फतेहपुर में एक विशाल जनसमूह को सम्बोधित करते हुए फतेहपुर में उपमण्डलाधिकारी कार्यालय खोलने और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र फतेहपुर को 50 बिस्तरों के अस्पताल में स्तरोन्नत करने की घोषणाएं कीं। उन्होंने रे में डिग्री कॉलेज खोलने और सुख भटोली कालेज को सरकार के अधीन लेने की घोषणाएं कीं। उन्होंने रैहन में पॉलिटैक्निक खोलने और रयाली उच्च पाठशाला को वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के रूप में स्तरोन्नत करने की घोषणाएं भी कीं। उन्होंने फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में 17 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं के शिलान्यास एवं लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह प्रदेश में नए प्रशासनिक जिले बनाने के हक में नहीं हैं, क्योंकि इससे प्रदेश के राजकोष पर भारी बोझ पड़ेगा। उन्होंने कहा कि वह जिला कांग्रेस इकाइयों को प्रशासनिक जिलों के रूप में परिवर्तित करने के प्रयासों का विरोध करेंगे। उन्होंने कहा कि वह न तो प्रदेश को छोटे-छोटे भागों में नहीं बंटने देंगे और न ही प्रदेश के राजकोष पर अतिरिक्त वित्तीय बोझ डालने की अनुमति देंगे।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि वह नहीं चाहते कि समितियों के गठन से प्रदेशवासियों के मध्य दरार पैदा हो। उन्होंने कहा कि पार्टी इकाइयों के गठन से किसी को यह नहीं समझना चाहिए कि इससे नए प्रशासनिक जिले बनाने का रास्ता प्रशस्त होगा, क्योंकि इस तरह के किसी भी कदम को कड़े प्रतिरोध का सामना करना पडे़गा।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि कोई भी पार्टी इकाइयां तो बना सकता है, लेकिन और जिले बनाने के सपने नहीं देखे जाने चाहिएं। मुख्यमंत्री ने युवाओं से प्रदेश सरकार द्वारा आरम्भ की गई कौशल विकास योजना और स्वरोजगार के अवसरों का भरपूर लाभ उठाने का आह्वान किया। उन्होंने सरकारी क्षेत्र में रोजगार के सीमित अवसरों के दृष्टिगत युवाओं से बड़ी औद्योगिक इकाइयों की मांग के अनुरूप कौशल विकास के लिए प्रशिक्षण लेने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने लोगों से बे-मौसमी सब्जियां उगाने का आग्रह करते हुए कहा कि इससे ग्रामीणों की आर्थिकी सुदृढ़ होगी।

मुख्यमंत्री ने किया फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में 17 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं के शिलान्यास एवं लोकार्पण

मुख्यमंत्री ने किया फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में 17 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं के शिलान्यास एवं लोकार्पण

इससे पूर्व, बहुउद्देशीय परियोजनाएं एवं ऊर्जा मंत्री सुजान सिंह पठानिया ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। उन्होंने क्षेत्र की विभिन्न मांगें रखीं। उन्होंने फतेहपुर में उपमण्डलाधिकारी कार्यालय और सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मण्डल खोलने, रे में डिग्री कालेज व रैहन में पॉलिटैक्निक संस्थान खोलने के अतिरिक्त फतेहपुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को स्तरोन्त कर नागरिक अस्पताल बनाने मांग की।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने लोकसभा चुनावों के दौरान बड़े-बडे़ दावे किए थे और लोगों को विश्वास दिलाया कि स्विस बैंक से काला धन वापिस लाकर प्रत्येक भारतीय के खाते 15-15 लाख रुपये जमा करवाए जाएंगे। लेकिन, उनके ये दावे खोखले साबित हुए हैं और लोगों को अभी भी ‘अच्छे दिन’ का इन्तजार है। उन्होंने ने कहा कि कांग्रेस ने ही पौंग डैम विस्थापितों के मामले को केन्द्र के साथ उठाया और यदि आवश्यकता हुई तो न्याय प्राप्त करने के लिए सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष भी पुनः मामला लाया जाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *