पैंटावेलेंट टीकाकरण से बच्चों में पांच बीमारियों की होगी रोकथाम

पैंटावेलेंट टीकाकरण से बच्चों में पांच बीमारियों की होगी रोकथाम

जिला स्तरीय पैंटावेलेंट टीकाकरण का शुभारंभ

शिमला: हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के उपाध्यक्ष हरीश जनारथा ने आज दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल शिमला में जिला स्तरीय पेंटावेलेंट टीकाकरण का शुभारंभ किया। इस वैक्सीन का प्रयोग करने से बच्चों में पांच बीमारियों डिप्थीरिया (गलघोटू), परट्यूसिस (कालीखांसी), टेटनस, हेपेटाईटिस-बी और हिब-न्यूमोनिया एवं मैनिन्जाईटिस की रोकथाम होगी। इस वैक्सीन के बनने से पहले बच्चों को टीकारण कार्यक्रम के तहत छः टीके लगवाने पड़ते थे, जबकि अब इस वैक्सीन के लॉंच होने से उन्हें केवल तीन टीके डेढ़ माह, अढ़ाई माह व साढ़े तीन माह के अन्तराल में लगवाने होंगे।

उन्होंने कहा कि पूरे शिमला जिला के अस्पताल शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित सभी सिविल अस्पतालों, प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों तथा स्थानीय उपकेंद्रों में बच्चों में पेंटावेलेंट टीकाकरण किया जा रहा है। इस टीके की एक खुराक की कीमत 130 रुपये है, परंतु सरकार द्वारा सभी बच्चों को यह टीके मुफ्त उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पेंटावेलेंट टीकाकरण से जिला में शिशु मृत्यु दर में और अधिक कमी आने की संभावना है। इस टीकाकरण से जिला में स्वास्थ्य सेवाओं में और अधिक सुधार होगा।

इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रणवीर सिंह राणा ने बताया कि जिला में पैंटावेलेंट टीकाकरण के लिए सभी तैयारिंया पूरी कर ली है। जिले में सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर वैक्सीन भेज दी गई है, तथा चिकित्सा कर्मियों, आशा कार्यकर्ताओं तथा ए.एन.एम. से प्रशिक्षण दे दिया गया है।

इस मौके पर वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. रंजना राव, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ, हरिराम ठाकुर, जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. मनीष सूद तथा अन्य चिकित्सा अधिकारी भी उपस्थित थे।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *