बैंकों द्वारा प्रदेश में रक्षा बन्धन पर विशेष अभियान आरम्भ

बैंकों द्वारा प्रदेश में रक्षा बन्धन पर विशेष अभियान शुरू

 

  • योजना आरम्भ होने से अब तक 9.86 लाख खाते खोले गए

 

शिमला: प्रदेश में सभी बैंक रक्षा बन्धन के अवसर पर सुरक्षा बन्धन नामक विशेष अभियान चलाएंगे ताकि सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लोगों को अधिक से अधिक लाभ मिल सके।

प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता ने आज यहां कहा कि प्रदेश में 9 मई, 2015 को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई), प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) तथा अटल पैंशन योजना (एपीवाई) आरम्भ की गई हैं, जिनके नामांकन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सभी बैंकों ने तीन नई जमा योजनाएं सुरक्षा जमा योजना (201 रुपये), जीवन सुरक्षा जमा योजना (5001 रुपये) तथा जीवन सुरक्षा उपहार चैक (351 रुपये) आरम्भ की हैं। बैंकों ने प्रदेश में इस अभियान को मिशन की तरह चलाया है, जिसके अन्तर्गत इन योजनाओं के तहत योजना आरम्भ होने से अब तक 9.86 लाख खाते खोले गए हैं।

उन्होंने कहा कि सुरक्षा जमा योजना का उद्देश्य प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के अन्तर्गत रक्षा बन्धन त्यौहार के दौरान 201 रुपये की राशि खाता धारकों के खाते में स्वयं या उपहार के तहत प्राप्त नगद या चैक आदि के रूप में अंशदान के रूप में प्राप्त करता हैं। इस जमा राशि में से प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के अन्तर्गत दो वार्षिक किश्तों के लिए 12-12 रुपये जमा करवाने के लिए 24 रुपये आरक्षित रखी जाएगी ताकि सही समय पर वार्षिक किश्त जमा करवाई जा सके, जबकि शेष 177 रुपये की राशि 5 से 10 वर्ष के लिए फिक्स डिपोजिट के रूप में रखी जाएगी ताकि इससे प्राप्त होने वाले ब्याज से भविष्य में प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के अंशदान की अदायगी की जा सके।

जीवन सुरक्षा योजना के तहत जमा 5001 रुपये में से 342 रुपये की प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के अन्तर्गत दो वार्षिक अंशदान के लिए 684 रुपये उपयोग किए जाएंगे, जबकि 4317 रुपये पांच से 10 वर्षों के लिए फिक्स डिपोजिट के रूप में रखे जाएंगे, जबकि इससे प्राप्त होने वाले वार्षिक ब्याज में से पीएमएसबीवाई का अंशदान दिया जाएगा। 351 रुपये का जीवन सुरक्षा उपहार चैक सभी बैंकों की शाखाओं में उपहार देने के इच्छुक व्यक्तियों के लिए उपलब्ध है। प्राप्तकर्ता को यह उपहार चैक अपने बैंक खाते में एक वर्ष के अंशदान के रूप में 342 रुपये (12 रुपये व 320 रुपये) पीएमएसबीवाई जमा करवाना होगा, जबकि 9 रुपये बैंकों द्वारा सेवा शुल्क के रूप में लिए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि सभी पात्र खाता धारकों, जिन्होंने अभी तक इन सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत शुल्क जमा नहीं करवाया है, वे अपने परिवार की भविष्य की वित्तीय सुरक्षा के लिए बीमा व पैंशन योजना का शुल्क अदा करने के लिए आगे आएं। भारत सरकार ने पीएमएसबीवाई व पीएमजेजेबीवाई के तहत नामांकन करने की अंतिम तिथि 30 सितम्बर, 2015 तक बढ़ा दी है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *