ताज़ा समाचार

जैविक मेला 7 से 9 सितम्बर तक

  • मेले के दौरान हिमाचल प्रदेश पर्यटन निगम हिमाचली जैविक भोजन करेगा तैयार

शिमला: कृषि विभाग इंटरनेशनल सेंटर फॉर आर्गेनिक एग्रीकल्चर, हिमाचल प्रदेश पर्यटन निगम नाबार्ड, फार्म टेक्नोक्रेट फोरम के सहयोग से 7 से 9 सितम्बर, 2015 तक शिमला स्थित इंदिरा गांधी खेल परिसर में जैविक कृषि मेले व फूड फेस्टिवल का आयोजन करेगा।

कृषि विभाग के एक प्रवक्ता ने आज जानकारी देते हुए बताया कि मेले का मुख्य आकर्षण जैविक खाना, जैविक उत्पाद प्रदर्शनी व बिक्री, कार्यशाला सेमिनार होंगे। इसके अलावा प्रदेश के विभिन्न जिलों के लगभग 600 किसान भी मेले में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि मेले के दौरान हिमाचल प्रदेश पर्यटन निगम हिमाचली जैविक भोजन तैयार करेगा। प्रदर्शनी में जैविक उत्पाद, जैविक इनपुट, राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की विपणन एवं प्रमाणीकरण संस्थान अपने स्टाल लगाएगी। किसानों को जागरूक करने के लिए इस दौरान खुली वार्ता व कार्यशालाओं का आयोजन भी किया जाएगा। कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर द्वारा इस दौरान अनुसंधान व जैविक कृषि विकास पर आधारित स्टाल लगाए जाएंगे।

प्रवक्ता ने कहा कि इसके अतिरिक्त कृषि विभाग किसानों को इस मेले में लाएगा ताकि किसान इससे लाभान्वित हो सकें। प्रदेश में अब तक 30,110 कृषकों को जैविक खेती हेतु पंजीकृत किया जा चुका है। जैविक खेती के अन्तर्गत 17848 हेक्टेयर क्षेत्र लाया जा चुका है। कम्पोस्ट खाद का उत्पादन बढ़ाने के लिए अब तक 1.5 लाख वर्मी कम्पोस्ट यूनिट स्थापित किए जा चुके हैं। प्रदेश सरकार वर्मी कम्पोस्ट यूनिट लगाने पर किसानों को 50 प्रतिशत उपदान प्रदान कर रही है। प्रदेश में वर्तमान में 20 वर्मी हैचरीज, 5 बायोफर्टिलाइजर इकाइयां व 29 जैविक खाद उत्पादन व विपणन यूनिट पंजीकृत हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *