कोविड-19; उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी के संबंधित अधिकारियों को निर्देश : मरीजों के लिए बिस्तरों की न हो कमी

  •  बिस्तरों की क्षमता बढ़ाने के लिए सेना अस्पताल में 100 अतिरिक्त बिस्तरों के साथ ऑक्सीजन एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों की व्यवस्था होगी उपलब्ध

    किसी भी विपरीत परिस्थिति का सामना करने के लिए शहर व निकटवर्ती स्थानों पर या अस्पतालों में अतिरिक्त बिस्तरों के साथ ऑक्सीजन एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों की उपलब्धता के किए जा रहे हैं प्रयास

  • जिला में स्थापित होने वाले ऑक्सीजन संयंत्र व अन्य उपकरणों की अनुमानित राशि उपायुक्त कार्यालय को भेजने के निर्देश

  • जिला में कोविड-19 टेस्टिंग बढ़ाने के किए जाएंगे प्रयास, ताकि स्थिति में काबू पाने के लिए किसी प्रकार का ना हो विलंब

शिमला: उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने आज यहां जिला में कोविड-19 स्थिति की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को बिस्तरों की क्षमता बढ़ाने के निर्देश दिए ताकि जिला में कोविड-19 मामलों में तेजी से वृद्धि होने की स्थिति में मरीजों के लिए बिस्तरों की कमी ना आए। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त अपूर्व देवगन, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी (प्रोटोकॉल) विनय धीमान, उपमंडलाधिकारी शिमला (शहरी) मनजीत शर्मा, आईजीएमसी प्रधानाचार्य डॉ. रजनीश पठानिया, चिकित्सा अधीक्षक डॉ.जनक राज, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुरेखा चोपड़ा, जिला निगरानी अधिकारी डॉ राकेश भारद्वाज एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

आदित्य नेगी बताया कि बिस्तरों की क्षमता बढ़ाने के लिए सेना अस्पताल ( वॉकर अस्पताल) में 100 अतिरिक्त बिस्तरों के साथ ऑक्सीजन एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों की व्यवस्था उपलब्ध करवाई जाएगी।

उन्होंने बताया कि इसके साथ आईजीएमसी शिमला में 50 अतिरिक्त बिस्तरों की व्यवस्था की गई है जिसे चरणबद्ध तरीके से अतिरिक्त बिस्तरों की क्षमता को बढ़ाया जाएगा।

उपायुक्त  बताया कि स्वास्थ्य विभाग से बातचीत कर जिला में डॉक्टरों की कमी को पूरा करने के लिए डेंटल कॉलेज के डॉक्टरों तथा फाइनल ईयर के छात्रों की सेवाएं लेकर कमी को पूरा किया जाएगा। वहीं नर्सिंग स्टाफ की कमी को पूरा करने के लिए नर्सिंग कॉलेज के छात्रों की सेवाएं ली जाएगी तथा अन्य स्टाफ को आउटसोर्स किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि सेना अस्पताल में सिलेंडरों की ढुलाई के लिए श्रमिकों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।
उन्होंने बताया कि किसी भी विपरीत परिस्थिति का सामना करने के लिए शहर तथा निकटवर्ती स्थानों पर या अस्पतालों में अतिरिक्त बिस्तरों के साथ ऑक्सीजन एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों की उपलब्धता के प्रयास किए जा रहे हैं।
उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को जिला में ऑक्सीजन तथा ऑक्सीजन सिलेंडर की आवश्यकता को पूरा करने के लिए उपायुक्त कार्यालय को लिखने के निर्देश दिए ताकि मामले को राज्य समिति के समक्ष रख कर उसे पूरा किया जा सके।
उन्होंने संबंधित अधिकारियों को जिला में स्थापित होने वाले ऑक्सीजन संयंत्र तथा अन्य उपकरणों की अनुमानित राशि उपायुक्त कार्यालय को भेजने के निर्देश दिए ताकि आगामी कार्यवाही अमल में लाई जा सके।
उन्होंने बताया कि जिला में कोविड-19 टेस्टिंग बढ़ाने के प्रयास किए जाएंगे ताकि स्थिति में काबू पाने के लिए किसी प्रकार का विलंब उत्पन्न ना हो।
उन्होंने बताया कि निगरानी एवं होम आइसोलेशन प्रणाली को सुदृढ़ करने के उदेश्य से संबंधित विभागों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं ताकि कोरोना मामलों में कमी लाई जा सके।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

59  +    =  66