राष्‍ट्रीय शहरी आवास कोष के गठन को मंत्रिमंडल की मंजूरी

शै‍क्षिक ऋणों के इच्‍छुक छात्रों के लिए विद्या लक्ष्‍मी का शुभारंभ

  • शै‍क्षिक ऋणों के इच्‍छुक छात्रों के लिए एक वेब आधारित पोर्टल-विद्या लक्ष्‍मी (www.vidyalakshmi.co.in) का शुभारंभ
  • सरकारी छात्रवृत्तियों के साथ-साथ बैंकों द्वारा शैक्षिक ऋण प्रदान करने हेतु आवेदन करने और जानकारी लेने के लिए छात्रों को एकल खिड़की सुविधा प्रदान करने वाला अपने प्रकार का प्रथम पोर्टल

 

नई दिल्ली: शैक्षिक ऋ‍णों के इच्‍छुक छात्रों के लाभ हेतु स्‍वतंत्रता दिवस अर्थात 15 अगस्‍त, 2015 के अवसर पर एक वेब आधारित विद्या लक्ष्‍मी पोर्टल (www.vidyalakshmi.co.in) का शुभारंभ किया गया। इस पोर्टल को वित्‍त मंत्रालय के वित्‍तीय सेवा विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के उच्‍चतर शिक्षा विभाग और भारतीय बैंक एसोसिएशन के अंतर्गत एनएसडीएल ई-गवर्नेंस इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर लिमिटेड (एनएसडीएल ई-जीओवी) द्वारा तैयार और रखरखाव किया गया है।

इससे पूर्व केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरूण जेटली ने 2015-16 के केंद्री बजट में प्रधानमंत्री विद्या लक्ष्‍मी कार्यक्रम (पीएमवीएलके) के माध्‍यम से शैक्षिक ऋण योजनाओं के साथ-साथ छात्रवृत्ति की निगरानी के लिए एक पूर्णत: सूचना प्रौद्योगिकी आधारित छात्र वित्‍तीय सहायता प्राधिकरण के गठन का प्रस्‍ताव दिया था ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि धन के अभाव में कोई भी छात्र उच्‍चतर शिक्षा से वंचित न रह जाए। उपरोक्‍त पोर्टल का शुभारंभ इस उद्देश्‍य को प्राप्‍त करने की दिशा में पहला कदम है। विद्या लक्ष्‍मी पोर्टल अपने प्रकार का पहला ऐसा पोर्टल है जिसके माध्‍यम से सरकारी छात्रव़त्तियों के साथ बैंको द्वारा शिक्षा ऋण प्रदान करने के लिए आवेदन करने और सूचना प्राप्‍त करने के लिए छात्रों को एकल खिड़की सुविधा प्रदान की गई है। इस पोर्टल में निम्‍नलिखित विशेषताएं हैं :

  • बैंको की शिक्षा ऋण योजनाओं के बारे में जानकारी
  • छात्रों के लिए समान शिक्षा ऋण आवेदन
  • शिक्षा ऋण के लिए कई बैंकों में आवेदन करने की सुविधा
  • छात्रों के ऋण आवेदनों को डाउनलोड करने की बैंकों को सुविधा
  • बैंकों को ऋण प्रक्रिया स्थिति को अपलोड करने की सुविधा
  • शिक्षा ऋण के बारे में बैंकों को शिकायतें/पूछताछ के लिए छात्रों को सुविधा
  • शिक्षा ऋण आवेदनों की स्थिति को देखने के लिए छात्रों को डैश बोर्ड सुविधा
  • सरकारी छात्रवृत्तियों के लिए सूचना और आवेदन के लिए राष्‍ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल से जुड़ाव

अब तक विद्या लक्ष्‍मी पोर्टल पर 22 शिक्षा ऋण योजनाओं के लिए 13 बैंक पंजीकृत किये जा चुके हैं। छात्रों को ऋण प्रक्रिया की स्थिति की जानकारी देने के लिए पोर्टल के साथ अपनी प्रणाली में भारतीय स्‍टेट बैंक, आईडीबीआई बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, केनरा बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को जोड़ा गया है। इस पहल का उद्देश्‍य शिक्षा ऋण प्रदान करने के लिए सभी बैंकों को बोर्ड पर लाना है। यह उम्‍मीद की गई है कि सभी बैंकों की विभिन्‍न शिक्षा ऋण योजनाओं तक पहुंच बनाने के लिए एक एकल खिड़की की उपलब्‍धता के द्वारा सरकार की इस पहल से देश भर के छात्र लाभान्वित होंगे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *