मुख्यमंत्री ने सोलन में किए 34 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने सोलन में किए 34 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास

  • नगर निगमों के गठन से शहरों का योजनाबद्ध विकास सुनिश्चित होगाः मुख्यमंत्री

सोलन : सोलन शहर में नगर निगम के गठन से शहर का योजनाबद्ध और व्यवस्थित विकास सुनिश्चित होगा। इससे यहां का पुराना वैभव और महत्व भी बना रहेगा। मुख्यमंत्री ने यह बात आज सोलन शहर के निवासियों द्वारा नगर परिषद सोलन को नगर निगम के रूप में स्तरोन्नत करने पर मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करने के लिए ठोडो मैदान में आयोजित अभिनन्दन समारोह के दौरान कही।

जय राम ठाकुर ने कहा कि सोलन राज्य के केंद्र में स्थित जीवंत शहरों में से एक है, जो न केवल प्रदेश का प्रवेश द्वार है, बल्कि प्रदेश के सभी भागों के लोगों को अपने सुखद वातावरण के कारण यहां रहने के लिए आकर्षित करता है। उन्होंने कहा कि इस कारण ही शहर के नियोजित और समुचित विकास को सुनिश्चित करने की आवश्यकता महसूस की गई। वर्तमान राज्य सरकार ने इसी कारण से सोलन की नगर परिषद को नगर निगम में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने लोकतंत्र की सबसे निचली व महत्वपूर्ण इकाई के संस्थानों में लोगों की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए राज्य में 412 नई ग्राम पंचायतें, सात नगर पंचायतें और तीन नगर निगमों का गठन किया है। उन्होंने कहा कि सोलन, पालमपुर और मंडी में तीन नए नगर निगमों का गठन इसलिए महत्वपूर्ण था, ताकि इन सभी शहरों का योजनाबद्ध और व्यवस्थित तरीके से विकास किया जा सके। राज्य सरकार के इस निर्णय से प्रदेश के इन सभी तीनों शहरों के लोगों की लंबे समय से लंबित मांग को पूरा किया गया है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने विश्व और भारत की अर्थव्यवस्था के साथ-साथ प्रदेश की अर्थव्यवस्था पर भी प्रतिकूल प्रभाव डाला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने महामारी के इस संवेदनशील मुद्दे का भी राजनीतिकरण किया और राज्य सरकार पर देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रदेश के लगभग 2.50 लाख लोगों की प्रदेश वापसी कर संक्रमण फैलाने के आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने राज्य के लोगों को मास्क और सेनेटाइजर प्रदान करने के लिए खर्च की गई राशि के 13 करोड़ रुपये के बिल अपनी आलाकमान के समक्ष रखे। उन्होंने आश्चर्य जताते हुए कहा कि राज्य के लोगों को कांग्रेस से जब कुछ मिला ही नहीं तो यह राशि कैसे और कहां खर्च की गई।

जय राम ठाकुर ने सोलन के लोगों से नगर निगम चुनावों में भाजपा के उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने का आग्रह किया, ताकि विकास निर्बाध रूप से चलता रहे।  मुख्यमंत्री ने परिवहन नगर सोलन के लिए दो करोड़ रुपये, सोलन में तीन नई पार्किंग के लिए दो करोड़ रुपये और नगर निगम सोलन के 17 वार्डों के योजनाबद्ध विकास के लिए दो करोड़ रुपये की घोषणा की। उन्होंने कहा कि नागरिक अस्पताल सोलन में सीटी स्कैन और डिजिटल एक्स-रे संयत्र स्थापित किया जाएगा। सोलन और कंडाघाट अस्पतालों में डाॅक्टरों के पर्याप्त पद भरे जाएंगे। उन्होंने कहा कि कंडाघाट स्टेडियम और इंडोर स्टेडियम सोलन का कार्य शीघ्र ही आरंभ कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सोलन विधानसभा क्षेत्र के लोगांे की सभी मांगों सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुराने बस अड्डे के समीप पर्याप्त पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने जिला सोलन के सोलन विधानसभा क्षेत्र में लगभग 34 करोड़ रुपये की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए। मुख्यमंत्री ने कंडाघाट तहसील की ग्राम पंचायत सतड़ोल में 1.41 करोड़ रुपये की उठाऊ पेयजल योजना बदरौण के संवर्द्धन कार्य और क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में 93 लाख रुपये के कोविड आईसीयू केंद्र का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने जोगिन्द्रा केन्द्रीय सहकारी बैंक लिमिटेड के 3.93 करोड़ रुपये की लागत के मुख्यालय भवन, 15 करोड़ रुपये की लागत से गिरी नदी से सोलन शहर की उठाऊ पेयजल योजना के सुधार एवं स्तरोन्नयन कार्य, तीन करोड़ रुपये की लागत से सोलन विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत धरोट व बसाल तहसील की विभिन्न बस्तियों के लिए उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना, 2.19 करोड़ रुपये की लागत से ग्राम पंचायत मशीवर और जौणाजी के लिए उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना के संवर्द्धन कार्य, 1.25 करोड़ रुपये की लागत से ग्राम पंचायत कनैर और जधाणा में मेहली चरण-2 उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना, जटोली में 4.21 करोड़ रुपये के माॅडल करियर सेंटर और 1.27 करोड़ रुपये की लागत की सोलन की जल आपूर्ति वितरण के चरण-2 के जीर्णोद्धार कार्य का शिलान्यास किया।

जोगिन्द्रा बैंक के प्रबन्धन की ओर से जोगिन्द्रा केन्द्रीय सहकारी बैंक के अध्यक्ष योगेश भारतीय ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 2.56 लाख रुपये का चेक मुख्यमंत्री को भेंट किया। इसके पश्चात, मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य में सहभागिता योजना के अंतर्गत साईं संजीवनी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल सोलन का लोकार्पण किया।

स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. राजीव सैजल ने कहा कि पिछले 20 वर्षों के दौरान क्षेत्र में सोलन शहर विकसित शहर के रूप में उभरा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में वर्तमान प्रदेश सरकार ने ही सोलन शहर को नगर निगम में स्तरोन्नत करने की लंबे समय से लंबित मांग को पूरा किया गया है। उन्होंने शहर के लोगों से आगामी नव गठित नगर निगम के चुनावों में सभी भाजपा उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने का आग्रह किया।

सांसद और राज्य भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने कहा कि राज्य के गठन के समय केवल एक नगर निगम शिमला था और कांग्रेस सरकार ने इन 50 वर्षों के दौरान केवल एक नगर निगम धर्मशाला का गठन किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने सोलन, मंडी और पालमपुर में तीन नए नगर निगम गठित किए, ताकि राज्य के तेजी से विकसित हो रहे इन शहरों का योजनाबद्ध विकास सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कहा कि यह एक ऐतिहासिक निर्णय है और इसका उद्देश्य हमारे शहरों को और अधिक जीवंत और आत्मनिर्भर बनाना है।

राज्य विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और विधायक डाॅ. राजीव बिंदल ने सोलन शहर के लोगों को उनके प्यार और परोपकार के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सोलन शहर देश का सबसे तेजी से विकसित हो रहा शहर है। उन्होंने कहा कि शहर का योजनाबद्ध विकास सुनिश्चित करने के लिए यह आवश्यक था कि शहर को निगम का दर्जा मिले। उन्होंने पिछली कांग्रेस सरकार पर सोलन शहर के लोगों के हितों की उपेक्षा करने का आरोप लगाया। उन्होंने सोलन शहर की विकासात्मक मांगों के बारे में विस्तार से बताया।

पूर्व सांसद और राष्ट्रीय भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वीरेन्द्र कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा सोलन जिला को नगर निगम का दर्जा देना सोलन शहर के लोगों के लिए सबसे बड़ा उपहार है। उन्होंने कहा कि नवगठित नगर निगम की सभी सीटों पर भाजपा की जीत सुनिश्चित करना अब शहर के लोगों की जिम्मेदारी है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *