मण्डी में 150 करोड़ रुपये से लागत बनेगा शिवधाम, मुख्यमंत्री ने रखी की आधारशिला

मण्डी में 150 करोड़ रुपये की लागत बनेगा शिवधाम, मुख्यमंत्री ने रखी की आधारशिला

मण्डी: प्रदेश की मण्डी में शिवधाम का निर्माण 150 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से किया जाएगा, जो मण्डी जिला में आने वाले पर्यटकों के लिए एक मुख्य आकर्षण होगा। यह शिवधाम मण्डी के साथ-साथ देश के लोगों के लिए भी एक अनूठा स्थान होगा। यह बात मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज मंडी के कांगणीधार में बनने वाले शिवधाम की आधारशिला रखने के बाद कही। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के प्रथम चरण के कार्य को 40 करोड़ रुपये की लागत से पूरा किया जाएगा। उन्होंने लगभग 100 करोड़ रुपये की लागत से यू-ब्लाॅक के पास सार्वजनिक निजी सहभागिता से बनने वाली बहुमंजिला पार्किंग की आधारशिला भी रखी।

जय राम ठाकुर ने कहा कि इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जाता है जिन्होंने शिवधाम परियोजना और 604 अन्य परियोजनाओं को मंजूरी प्रदान करने में राज्य का सहयोग किया जो वन विभाग की मंजूरी के बिना शुरू नहीं हो पा रहे थे। उन्होंने कहा कि बहुमंजिला पार्किंग से शहर के लोगों व पर्यटकों को सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि राज्य को वन विभाग की मंजूरी मिलते ही मंडी शहर में 27 करोड़ रुपये की लागत से अनाज मंडी का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वित्त आयोग ने भी मंडी केे ग्रीन फिल्ड हवाई अड्डे के लिए एक हजार करोड़ रुपये और कांगड़ा हवाई अड्डे के विस्तार के लिए 400 करोड़ रुपये की सिफारिश की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांगणीधार में शिवधाम को 9.5 हेक्टेयर क्षेत्र में बनाया जाएगा और यह छोटी काशी मण्डी आने वाले पर्यटकों के लिए मुख्य आकर्षण होगा। उन्होंने कहा कि शिवधाम में 12 ज्योतिर्लिंग के प्रतिरूप, भगवान शिव और गणेश की मूर्ति की स्थापना की जाएगी और म्यूज़ियम, फूड कोर्ट, हर्बल गार्डन, नक्षत्र वाटिका, एम्फी थियेटर, ओरिएंटेशन केंद्र और कार पार्किंग का निर्माण किया जाएगा।

जय राम ठाकुर ने कहा कि मण्डी शहर में पिछले 3 वर्षों के दौरान 300 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का कार्यन्वयन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मण्डी शहर के लिए 82.18 करोड़ रुपये की जलापूर्ति योजना से शहर के 50 हजार से ज्यादा लोगों को बेहतर जलापूर्ति होगी। उन्होंने कहा कि शहर के लोगों को विक्टोरिया ब्रिज के पास 21 करोड़ रुपये का पुल समर्पित किया गया है। उन्होंने कहा कि एशियन विकास बैंक (एडीबी) के सहयोग से मण्डी शहर के सौन्दर्यीकरण पर 40 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के अन्तर्गत टारना मंदिर का सौन्दर्यीकरण ब्यास नदी के किनारे आरती घाटों का विकास, इन्दिरा मार्केट का सौन्दर्यीकरण किया गया है। उन्होंने कहा 7.50 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पर्यटन संस्कृति केंद्र का कार्य पूरा होने वाला है। मण्डी शहर के उपनगरों के लोगों की सुविधा के लिए 68.57 करोड़ रुपये की मल निकासी (सीवरेज) योजना बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि कांगणीधार में 30 करोड़ रुपये की लागत से संस्कृति सदन भी बनाया जा रहा है। यह सभी परियोजनाएं मंडी शहर को राज्य का प्रमुख पर्यटन स्थल बनाने में सहायक सिद्ध होंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार ने अपने कार्यकाल के तीन वर्ष पूरे किए हैं और यह राज्य के लोगों की सक्रिय भागीदारी और सहयोग से संभव हुआ है। उन्होंने कहा कि नई चुनौतियों में नई जिम्मेदारियां भी आई है, लेकिन लोगों के सहयोग से हर चुनौती को अवसर में बदला गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा सरकार बनने के बाद पहली परीक्षा में ही भाजपा ने प्रदेश की सभी चारों लोकसभा सीटों पर भारी बहुमत से जीत हासिल की। उन्होंने कहा कि इस दौरान कोरोना महामारी सबसे बड़ी चुनौती थी।

 जय राम ठाकुर ने कहा कि पिछले कल विधानसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस पार्टी के अन्य विधायकों का व्यवहार और आचरण अत्यन्त निन्दनीय है और राज्य की समृद्ध संस्कृति के विरूद्ध है। उन्होंने कहा कि इससे पता चलता है कि कांग्रेस पार्टी आज एक नेतृत्वहीन, दिशाहीन और मुद्दाविहीन पार्टी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं में अपना वर्चस्व दिखाने की होड़ लगी है ताकि केंद्रीय नेताओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा मंडी नगर परिषद को नगर निगम के रूप में स्तरोन्नत करने का निर्णय समाज के विभिन्न वर्गों के आग्रह पर लिया गया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने तीन नए नगर निगम मण्डी, सोलन और पालमपुर बनाने का निर्णय लिया है ताकि इन शहरों का नियोजित विकास सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कहा कि यह सभी नगर निगम लोगों को बेहतर बुनियादी सुविधाएं सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि इन नगर निगमों में तीन साल तक कोई  कर नहीं लगाया जाएगा। मुख्यमंत्री शहरी गारंटी योजना शहरी गरीबों को मनरेगा के अन्तर्गत रोजगार सुनिश्चित करेगी। उन्होंने कहा कि पिछले 50 वर्षों के दौरान कांग्रेस सरकार ने केवल मात्र एक नगर निगम धर्मशाला में बनाया। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर वर्तमान राज्य सरकार ने न केवल तीन नगर निगम बनाए बल्कि संबंधित क्षेत्रों के बेहतर विकास के लिए 412 नई पंचायतें भी बनाई।

जय राम ठाकुर ने कहा कि शहर के सौन्दर्यीकरण के प्रयास किए जाएंगे जिसके लिए मास्टर प्लान तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी बिजली की तारों को भूमिगत किया जाएगा और श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए ब्यास के घाटों को विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जेल रोड़ में स्थित जेल को किसी दूसरी उपयुक्त जगह पर स्थानातंरित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रभावी यातायात प्रबंधन के लिए कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि शहर को अपराध मुक्त (क्राइम-फ्री) बनाने के लिए शिमला स्थित कंमाड संेटर के साथ सीसीटीवी जोड़ा जाएगा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने गुरू रविदास जयंती की प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं भी दीं।

भाजपा के राज्य प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने कहा कि पिछले कल विधानसभा में हुई घटना गैर जिम्मेदाराना और अनुचित थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता इस स्तर तक गिर गए कि उन्होंने राज्यपाल के साथ गुंडागर्दी व धक्कामुक्की की, जिसके कारण देवभूमि की छवि धूमिल हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोग कांग्रेस को वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव और उससे पहले नगर निगम चुनावों में उपयुक्त जवाब देंगे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *