निजी कोविड टीकाकरण केंद्र करेंगे राज्य में टीकाकरण अभियान आरम्भ

कोविड-19 की वैक्सिन बिल्कुल सुरक्षित : डॉ. दडोच

  • वैक्सिन के बारे में कुछ लोगों में तरह-तरह की भ्रातियां पैदा हो रही है जोकि बिल्कुल निराधार

बिलासपुर :- मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. प्रकाश दडोच ने कोविड-19 वैक्सिन के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह टीका बिलकुल सुरक्षित है और इसका मनुष्य पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं है। उन्होंने बताया कि वैक्सिन के बारे में कुछ लोगों में तरह-तरह की भ्रातियां पैदा हो रही है जोकि बिल्कुल निराधार है।

उन्होंने बताया कि सीरम इंस्टीटयूट पूना की कोविसिल्ड और भारत बायोटैक की को-वैक्सिन बिल्कुल सुरक्षित है जो कि वैज्ञानिकों द्वारा प्रमाणित की गई है।

उन्होंने बताया कि कोविड-19 का टीका बिल्कुल सुरक्षित है, प्रमाणित है, किसी प्रकार की अफवाहों व भ्रांतियों पर भरोसा न करें। उन्होंने आम जनता से भी अपील की है कि ये टीके चरणबद्ध तरीके से सभी को लगाए जाएंगे सरकार की गाईडलाइन के अनुसार सभी भरोसा बनाए रखें, अफवाहों व भ्रांतियों पर भरोसा न करे स्वास्थ्य विभाग व हमारी सरकार कोरोना से मुक्ति दिलाने के लिए हर सम्भब प्रयास कर रहे है।

उन्होंने समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों से आग्रह किया है कि वे कोविड टीकाकरण के विरुध फैलाइ जा रही झूठी अफवाहें/संदेशों को रोकने के लिए सहयोग प्रदान करें। उन्होंने सम्बन्धित सभी विभागों को इस कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करने की अपील की है।

उन्होंने कोविड-19 टीकाकरण के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कोविड-19 टीकाकरण अभियान का शुभारंभ 16 जनवरी, 2021 को किया गया था इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि टीकाकरण के प्रथम चरण के लिए जिला बिलासपुर के दो चयनित स्थानों क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर तथा नागरिक अस्पताल घुमारवीं में टीकाकरण की शुरुआत की जिसमें 106 स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों का टीकाकरण हुआ, फिर उसके बाद 18 जनवरी, 2021 को तीन जगह यही टीकाकरण क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र झ्ांडुता व पंजगाई में किया गया जिसमें 173 स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों का टीकारण हुआ और इसी तरह से आगे भी यह अभियान चलता रहेगा उन्होंने बताया कि अभी तक 279 विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों का टीकाकरण हो चुका है और किसी भी व्यक्ति को टीका लगाने से कोई प्रतिकुल प्रभाव नहीं हुआ।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *