ऊना को मिली 3300 कोविड वैक्सीन, गर्भवती महिलाओं को नहीं दी जाएगी डोज

ऊना को मिली 3300 कोविड वैक्सीन, गर्भवती महिलाओं को नहीं दी जाएगी डोज

  • शनिवार को क्षेत्रीय अस्पताल ऊना व गगरेट अस्पताल में दी जाएगी वैक्सीन

ऊना : कोविड महामारी से बचाव के लिए वैक्सीन लगाने का अभियान शनिवार से जिला ऊना में शुरू हो जाएगा। अभियान के प्रथम चरण में 5369 लाभार्थियों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा तथा प्रथम खेप के रूप में जिला को 3300 डोज प्राप्त हुई हैं। यह जानकारी उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने आज जिला टास्क फोर्स की बैठक में दी।उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने कोविशिल्ड वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है। रीजनल वैक्सीन स्टोर धर्मशाला से 14 जनवरी की रात ऊना जिला के लिए वैक्सीन उपबल्ध हुई है। उन्होंने कहा कि 16 जनवरी के बाद 18, 22, 23, 28, 30 जनवरी व 1 फरवरी तक टीकाकरण किया जाएगा। राघव प्रथम चरण में स्वास्थ्य अधिकारियों, कर्मचारियों, आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर सहित अन्यों का टीकाकरण किया जाएगा। प्रत्येक टीकाकरण स्थान पर सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम रहेंगे।

  • गर्भवती व धात्री महिलाओं को नहीं दी जाएगी डोज

राघव शर्मा ने कहा कि कोविड वैक्सीन गर्भवती महिलाओं, धात्री माताओं व गम्भीर बीमारी से ग्रसित मरीजों को नहीं दी जाएगी। जो व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव हैं, उन्हें यह वैक्सीन नेगेटिव रिपोर्ट आने के 14 दिन के बाद ही दी जाएगी।

  • जिसे एसएमएस आएगा, उसे ही लगेगा टीका

उन्होंने बताया कि कोविड वैक्सीन लगाने का कार्य पोर्टल के माध्यम से होगा। लाभार्थी को एसएमएस भेजा जाएगा और जिसे एसएमएस आएगा, केवल उसी व्यक्ति को टीका लगाया जाएगा। केंद्र पर सबसे पहले व्यक्ति की फोटो आईडी की जांच की जाएगी और उसे सैनिटाइज करने के उपरांत बाईं बाजू पर कोविड वैक्सीन दी जाएगी। टीका लगने के बाद व्यक्ति को 30 मिनट के लिए निगरानी में रखा जाएगा तथा उसके बाद ही उसे घर जाने की अनुमति दी जाएगी। वैक्सीन लाभार्थी के लिए अपने साथ आधार कार्ड या अन्य पहचान पत्र लाना आवश्यक है। इसी पहचान पत्र के आधार पर लाभार्थी की यूनिक आईडी बनाई जाएगी।उन्होंने कहा कि अगर बिना एसएमएस के कोई व्यक्ति वैक्सीन लगाने के स्थान पर पहुंचता है तो उसे डोज नहीं दी जाएगी तथा मौके पर उपस्थित अधिकारी उसकी काउंसलिंग करेंगे। कोविड वैक्सीन देने के बाद स्वास्थ्य विभाग लाभार्थी की फॉलो-अप जांच भी सुनिश्चित करेगा।

  • टीका लगने के बाद भी पहनना होगा मास्क

उन्होंने बताया कि लाभार्थी को वैक्सीन की दो डोज दी जाएंगी। दूसरी डोज पहला वैक्सीन लगने के 28 दिनों बाद उसी कंपनी दी जाएगी। वैक्सीन की दो खुराक लगने के 14 दिन बाद ही व्यक्ति में कोरोना के प्रति प्रतिरोधक क्षमता आएगी।उपायुक्त ने बताया कि यह वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है, लेकिन वैक्सीन लगने के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल की अनुपालना आवश्यक है। व्यक्ति को मास्क पहनना होगा तथा सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करना होगा। टीकाकरण के लिए इस्तेमाल होने वाली सिरिंज भी एक ही बार प्रयोग होगी और फिर उसका बायो-मेडिकल वेस्ट के रूप में निपटारा किया जाएगा।

  • पहले लाभार्थी होंगे डॉ. विक्रांत पराशर

उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने बताया कि क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में टीकाकरण के पहले लाभार्थी डेंटल डॉ. विक्रांत पराशर होंगे और इस सत्र में 100 लाभार्थियों का टीकाकरण किया जाएगा। इसके अलावा एमसएच सेंटर गगरेट में टीकाकरण के पहले लाभार्थी स्वास्थ्य पर्यवेक्षक जगतजीत होंगे और इस सत्र में 80 लाभार्थियों का टीकाकरण किया जाएगा।

  • आने वाले समय में अधिक कैंप लगेंगे

बैठक में डीसी राघव शर्मा ने कहा कि जिला ऊना में वैक्सीन की उपलब्धता बढ़ेगी तथा ऐसे में स्वास्थ्य विभाग उसी अनुरूप भविष्य की तैयारी करे।बैठक में एसपी ऊना अर्जित सेन ठाकुर, एडीसी डॉ. अमित कुमार शर्मा, सीएमओ डॉ. रमण कुमार शर्मा, एसडीएम मनेश कुमार यादव व गौरव चौधरी, डीएसपी सृष्टि पांडे व अनिल मेहता, डॉ. निखिल सहित सभी बीएमओ व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *