चम्बा : 16 जनवरी को शुरू होगा टीकाकरण, चार सेंटर में लगेगा कोरोना का टीका

चम्बा : 16 जनवरी को शुरू होगा टीकाकरण, चार सेंटरों में लगेगा कोरोना का टीका

  • टीकाकरण के लिए 4 टीकाकरण केंद्र स्थापित

  • 16 जनवरी को शुरू होगा टीकाकरण

  • मेडिकल कॉलेज अस्पताल, जिला आयुर्वेद अस्पताल के अलावा दो अन्य स्वास्थ्य संस्थानों में होगा टीकाकरण

  • पहले चरण में 280 व्यक्तियों को दी जाएगी वैक्सीन

  • को-विन पोर्टल में पंजीकृत हुए 5899 लोग

  • पंचायती राज चुनाव के बाद टीकाकरण केंद्रों के लिए उपयुक्त जगहों के चयन के दिए उपायुक्त ने निर्देश

चंबा :  आगामी 16 जनवरी को शुरू होने वाले कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान की समीक्षा को लेकर आज उपायुक्त कार्यालय सभागार में जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त डीसी राणा ने की बैठक के दौरान उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा टीकाकरण अभियान को लेकर बनाई गई रणनीति के विभिन्न पहलुओं से जुड़ी जानकारी हासिल की। उपायुक्त ने बैठक के बाद जानकारी देते हुए बताया कि चंबा जिला में टीकाकरण अभियान के पहले चरण के लिए चार टीकाकरण केंद्रों की स्थापना की गई है। जिनमें मेडिकल कॉलेज अस्पताल, जिला आयुर्वेद अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चनेड और नागरिक अस्पताल चुवाड़ी शामिल हैं। 16 जनवरी को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 100, जिला आयुर्वेद अस्पताल में 50, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चनेड में 50 जबकि नागरिक अस्पताल चुवाड़ी में 80 व्यक्तियों का टीकाकरण होगा। टीकाकरण के इस पहले चरण में हेल्थकेयर से जुड़े कुल 280 लोगों को वैक्सीन की डोज़ दी जाएंगी।

फ्रंटलाईन कर्मियों के तौर पर काम करने वाले पुलिस, राजस्व, ग्रामीण विकास व अन्य विभागों के कर्मचारियों को अगले दौर में शामिल किया गया है।

उन्होंने बताया कि टीकाकरण पंजीकरण के लिए को-विन नामक

पोर्टल तैयार किया गया है। इसमें अब तक चंबा जिला से 5899 लोगों को वैक्सीन के लिए पंजीकृत किया जा चुका है। जिले में कुल 41 सेशन साइटें होंगी। जिनमें 41 टीमें टीकाकरण के इस काम को अंजाम देंगी। प्रत्येक टीम में 5 कर्मचारी तैनात रहेंगे।

उपायुक्त ने कहा कि टीकाकरण अभियान के आगामी चरणों के लिए जिला में टीकाकरण केंद्रों के तौर पर उपयुक्त जगहों के चयन को लेकर भी पंचायती राज चुनाव के बाद सभी आवश्यक कदम उठाए जाएं। उन्होंने परियोजना अधिकारी जिला ग्रामीण विकास अभिकरण को निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे सामुदायिक भवनों को चिन्हित किया जाए जहां कम से कम 3 कमरों की उपलब्धता रहे। इसके अलावा प्रतीक्षा में रहने के लिए भी पर्याप्त जगह मौजूद रहे। जगहों के चयन में इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि या तो वे किसी स्वास्थ्य संस्थान के साथ हों या समीपवर्ती रहें।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राजेश गुलेरी ने अवगत किया कि 16 जनवरी को सभी 4 टीकाकरण केंद्रों की निगरानी के लिए वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों की तैनाती सुनिश्चित कर ली गई है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा वे स्वयं भी इनका निरीक्षण करेंगे। इन सभी टीकाकरण केंद्रों में ऑब्जरवेशन कक्ष की सुविधा भी अलग से रहेगी। उन्होंने यह भी बताया कि 16 जनवरी को शुरू होने वाले इस टीकाकरण अभियान से पहले स्वास्थ्य विभाग द्वारा दो ड्राई रन भी पूरे किए जा चुके हैं। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त मुकेश रेपसवाल के अलावा जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ जालम भारद्वाज, जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ अनिल गर्ग, परियोजना अधिकारी जिला ग्रामीण विकास अभिकरण योगेंद्र कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास जगदीश राणा, शिक्षा उपनिदेशक देवेंद्र पाल और अन्य विभागीय अधिकारी भी मौजूद रहे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *