किसान के पास इतना समय नहीं की दिल्ली में बैठ धरना प्रदर्शन करे, यह आंदोलन केवल अराजक तत्वों द्वारा भड़काया जा रहा : रणधीर शर्मा

किसान के पास इतना समय नहीं कि दिल्ली में बैठ धरना प्रदर्शन करे, यह आंदोलन केवल अराजक तत्वों द्वारा भड़काया जा रहा : रणधीर शर्मा

शिमला: भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रणधीर शर्मा ने शिमला में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार के कृषि से संबंधित कानून किसान हित में है उन्होंने कहा नुकसान केवल दलालों का हो रहा है ना कि किसानों का। किसान के पास इतना समय नहीं की दिल्ली में बैठ धरना प्रदर्शन कर सकें यह आंदोलन केवल अराजक तत्वों द्वारा भड़काया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि मंडियों में इस कानून को लागू करने से लूट खत्म होगी यह आंदोलन केवल कांग्रेस और वामपंथियों द्वारा फैलाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में किसान आंदोलन नहीं चल रहा है केवल कांग्रेसी नेता इस को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं उन्होंने कहा कि शायद कांग्रेस भूल गई है कि उन्हीं के घोषणापत्र के वायदे आज पूरे हो रहे हैं उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता शरद पवार द्वारा इसी कानून को लागू करने के लिए पत्र भी लिखे गए थे। कांग्रेस पार्टी स्पष्ट करें कि वह पहले किसानों को गुमराह कर रही थी या अब।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी इस आंदोलन के माध्यम से अपने राजनीतिक हित साधने का प्रयास कर रही है और किसानों के कंधों पर बंदूक चला रही है। उन्होंने कहा कि किसानों द्वारा रखी सभी मांगे केंद्र सरकार ने मान ली है और प्रदेश सरकारों को भी कर लगाने या ना लगाने की अनुमति दे दी है बिजली की भी स्थिति यथा स्थिति रहेगी। उन्होंने कहा कि एपीएमसी और एमएसपी रद्द नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और वामपंथी सरकार और किसानों में समझौता नहीं होने दे रहे हैं और किसानों के समय में किसान बड़ी संख्या में आत्महत्या कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वामपंथी दल मोदी सरकार की लोकप्रियता से भयभीत हो गए हैं और सरकार की छवि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं उन्होंने कहा कि आंदोलन के माध्यम से विपक्षी दल अपनी राजनीतिक रोटियां सेक रहा है।

उन्होंने कहा आंदोलन में वही लोग है जो शाहीन बाग में नारे लगा रहे थे।

उन्होंने कहा कि एमएसपी की दरों में मोदी सरकार ने बड़ा सुधार किया है और केंद्र की सरकार एक ऐसी सरकार है जो देश के किसानों के हित में फैसले लेती है और बड़े स्तर पर व्यापक योजनाएं भी लाती है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *