किसानों का भारत बंद कल, तीन बजे तक चक्का जाम, राजनीतिक दलों को मंच पर नहीं मिलेगी जगह

किसानों का भारत बंद कल, तीन बजे तक चक्का जाम, राजनीतिक दलों को मंच पर नहीं मिलेगी जगह

  • किसानों ने कहा : भारत बंद पूरी तरह शांतिपूर्ण होगा

नई दिल्ली: कृषि बिल के खिलाफ किसान संगठनों द्वारा कल यानी 8 दिसंबर को भारत बंद का आयोजन किया गया है। भारत बंद से पहले आज शाम किसानों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि उनका भारत बंद पूरी तरह शांतिपूर्ण होगा।

किसान नेता डॉ दर्शन पाल ने कहा कि हम कल भारत बंद के दौरान सुबह से लेकर तीन बजे तक चक्का काम करेंगे। हमारा बंद शांतिपूर्ण होगा। साथ ही हम यह ऐलान करते हैं कि किसी भी राजनीतिक दल को हम अपने मंच पर जगह नहीं देंगे. यह किसानों का प्रदर्शन है किसी राजनीतिक दल का नहीं।

किसान नेताओं ने सिंघु बार्डर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की और अपने प्रदर्शन के बारे में मीडिया को जानकारी दी। किसान नेता निर्भय सिंह ने बताया कि हमारा प्रदर्शन पंजाब तक सीमित नहीं है। हमारे आंदोलन को देश के बाहर से भी समर्थन मिल रहा है। कनाडा और यूके जैसे देशों से हमारे प्रदर्शन को समर्थन मिल रहा है।

आठ दिसंबर के भारत बंद को ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने समर्थन देने का ऐलान किया है और चक्का जाम करने का फैसला किया है।

परिवहन संघ, ट्रक यूनियन, टेंपो यूनियन सभी ने बंद को सफल बनाने का फैसला किया है। यह बंद पूरे भारत में आयोजित किया जायेगा। इस बात की घोषणा लुधियाना से चरणजीत सिंह लोहारा प्रधान पंजाब ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने की।

गौरतलब है कि कृषि बिल के खिलाफ किसान दिल्ली में पिछले 12 दिन से प्रदर्शन कर रहे हैं। इनका कहना है कि कृषि बिल किसानों के खिलाफ है,इसलिए सरकार अविलंब इस बिल को वापस ले। सरकार और किसान नेताओं के बीच लगातार बातचीत भी हो रही है लेकिन अभी तक कोई निर्णायक बातचीत नहीं हुई है।

इधर किसानों के आंदोलन को पूरे देश से समर्थन मिल है। सभी क्षेत्र के लोग किसानों के समर्थन में आगे आये हैं और अवार्ड वापसी का सिलसिला भी चल पड़ा है।

  • हिमाचल प्रदेश में टैक्सी, मैक्सी चालक, संचालक, निजी बस ऑपरेटर व प्रदेश व्यापार मंडल ने मंगलवार को होने वाले किसानों के राष्ट्रव्यापी भारत बंद में शामिल नहीं होने का एलान किया है। इससे प्रदेशभर में टैक्सी व बसें चलेंगी और बाजार खुले रहेंगे।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *