सुप्रीम कोर्ट से वीरभद्र को फ़िलहाल राहत

चिंतपूर्णी विधानसभा क्षेत्र के चौकी मनियार में खोला जाएगा डिग्री कॉलेज: वीरभद्र सिंह

मुख्यमंत्री ने किए 11.50 करोड़ रुपये की लागत की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास एवं उद्घाटन।

मुख्यमंत्री ने किए 11.50 करोड़ रुपये की लागत की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास एवं उद्घाटन।

  • कांग्रेस पार्टी ने विकास के मामले में किसी भी क्षेत्र के साथ नहीं किया भेदभाव :मुख्यमंत्री
  • किसी के साथ व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं: मुख्यमंत्री
  • भाजपा नेता का  झूठे आरोप लगाना काफी आश्चर्यजनक: वीरभद्र सिंह

 

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज ऊना जिले के चिंतपूर्णी विधानसभा क्षेत्र के चौकी मनियार में डिग्री कालेज खोलने की घोषणा की। उन्होंने 11.50 करोड़ रुपये की लागत की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास एवं उद्घाटन भी किए।

वीरभद्र सिंह ने राजकीय माध्यमिक पाठशाला, सुहीं और तांडरी को स्तरोन्नत कर उच्च विद्यालय बनाने और अम्ब में अम्बेदकर भवन की चार दिवारी के निर्माण व शौचालय सुविधाओं के लिए 5 लाख रुपये देने की घोषणाएं कीं। उन्होंने गंगोटी में आयुर्वेद औषधालय खोलने, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, अम्ब में विज्ञान खण्ड के निर्माण और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, डियारा में विज्ञान कक्षाएं आरम्भ करने की घोषणाएं भी कीं।

मुख्यमंत्री ने सुहीं में 1.06 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पेयजल आपूर्ति योजना का लोकार्पण किया। इस योजना से क्षेत्र के चार गांवों की लगभग 2000 की आबादी लाभान्वित होगी। उन्होंने ऊना में गारनी खड्ड पर 6.39 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पुल, अम्ब में 1.50 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले सीडीपीओ/तहसील कल्याण अधिकारी कार्यालय और धुसाड़ा में 2.5 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की आधारशिलाएं रखीं।

इसके पश्चात, धुसाड़ा में एक जनसभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि ऊना जिले में भूमि को कृषि योग्य बनाने के लिए स्वां नदी व इसकी सभी 73 सहायक नदियों के तटीकरण के कार्य पर 922 करोड़ रुपये व्यय किए जा रहे हैं। ऊना जिले में सीएसडी (आर्मी डिपो) के लिए पर्याप्त भूमि उपलब्ध है और इसे ऊना में ही खोलने का मामला उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्वां तटीकरण के लिए 70:30 के अनुपात में 323 करोड़ रुपये की पहली किश्त जारी करने का मामला भी केन्द्र सरकार के साथ उठाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने विकास के मामले में किसी भी क्षेत्र के साथ भेदभाव नहीं किया और यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि अनुराग ठाकुर ऊना जिले में विकास कार्यों में अडंगा लगाने का प्रयास कर रहे हैं। यदि ठाकुर विकास का श्रेय लेने के इच्छुक हैं तो वह इसका श्रेय ले लें, लेकिन उन्हें लम्बित कार्यों को आरम्भ करना चाहिए, ताकि लोगों को लाभ मिल सके।

वीरभद्र सिंह ने एक सरकारी अधिकारी होते हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल के हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय में एचपीसीए मामले

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ऊना जिले के चिंतपूर्णी विधानसभा क्षेत्र के चौकी मनियार में जनसभा को संबोधित करते

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ऊना जिले के चिंतपूर्णी विधानसभा क्षेत्र के चौकी मनियार में जनसभा को संबोधित करते

में आरोपी के पक्ष में मामले की पैरवी करने पर सवाल खड़ा किया। उन्होंने कहा कि यह बेहद चिंताजनक है कि किस तरह एक सरकारी अधिकारी सरकारी खर्चें पर किसी पार्टी विशेष के पक्ष में मामलों की पैरवी कर सकता है। इस मामले को प्रधानमंत्री के समक्ष उठाया जाएगा।

  • मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी किसी के साथ व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है, लेकिन, जिस तरह से भाजपा नेता उनपर व उनके परिवार पर झूठे आरोप व कीचड़ उछाल रहे हैं, यह काफी आश्चर्यजनक है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के राजनीतिक इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है कि भाजपा निजी हित साधने और कीचड़ उछालने की राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि शांता कुमार मुख्यमंत्री के रूप में एक सिद्धांतवादी व्यक्ति रहे, लेकिन इसके उलट प्रेम कुमार धूमल ने अपने मुख्यमंत्रीत्व काल में उनके विरूद्ध झूठे आरोप लगाए।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि उन्होंने नैतिक मूल्यों और राजनीतिक पद की गरिमा को बनाए रखते हुए तत्काल केन्द्रीय मंत्री पद से इस्तीफा दिया और न्यायालय से बेदाग होकर निकले।हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के मामले पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वह क्रिकेट के विरूद्ध नहीं हैं, लेकिन जिस तरह एचपीसीए को एक कम्पनी में बदला गया और इसे हिमालयन प्लेयर्ज क्रिकेट एसोसिएशन के तौर पर पुनः नामित किया गया और दोबारा इसे कम्पनी अधिनियम के अन्तर्गत पंजीकृत करवाया गया, वह अनुचित है। यदि एचपीसीए सहकारी अधिनियम के अन्तर्गत स्वयं को पंजीकृत करवाती है और लोकतांत्रिक रूप से चुनाव करवाए जाते हैं तो प्रदेश सरकार मामले वापस लेने के लिए तैयार है।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने माता चिंतपूर्णी मंदिर में पूजा अर्चना की। मुख्यमंत्री ने अम्ब में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के एक

मुख्यमंत्री ने माता चिंतपूर्णी मंदिर में पूजा अर्चना करते हुए

मुख्यमंत्री ने माता चिंतपूर्णी मंदिर में पूजा अर्चना करते हुए

प्रतिनिधिमण्डल से भेंट की और उनकी समस्याओं पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया। उन्होंने मन्दिर न्यास तथा एशियन विकास बैंक द्वारा वित्तपोषित 45 करोड़ रुपये से बनने वाली बहुपार्किंग परिसर स्थल का निरीक्षण भी किया।

उद्योग मंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि भाजपा प्रदेश की वर्तमान निर्वाचित सरकार को गिराने के उद्देश्य से वीरभद्र सिंह को घेरने का हर संभव प्रयास कर रही है, लेकिन भाजपा को हर मोर्चे पर मुंह की खानी पड़ी है। उन्होंने कहा कि अब, कुंठित भाजपा नेता भ्रामक बयानबाजी का सहारा लेकर वीरभद्र सिंह की सम्पत्ति तथा आयकर रिटर्न के मामले में झूठे आरोप लगाने के अतिरिक्त उनके परिवार को भी निशाना बना रहे हैं। अग्निहोत्री ने कहा कि भाजपा नेताओं के स्वार्थी मंसूबे कभी पूरे नहीं होंगे। भाजपा ने इससे पहले भी वीरभद्र सिंह के विरूद्ध झूठे आरोप लगाए थे तथा उनके विरूद्ध सीबीआई जांच करवाई थी, लेकिन वीरभद्र सिंह बेदाग और निर्दोष साबित हुए।

उद्योग मंत्री ने आरोप लगाया कि भाजपा स्वां तटीकरण परियोजना की प्रथम किश्त प्राप्त करने में पूरी तरह असफल रही और न ही ऊना में इंडियन ऑयल का डिपो खोल पाई तथा अब विकास कार्यों में निरन्तर अड़ंगे अड़ा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने ऊना में आर्मी डिपो खोलने में भी रूकावट डाली।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *