अच्छा होता...अगर भाजपा बढ़ती महंगाई व बेरोजगारी की महामारी से लड़ने और लोगों को इससे बचाने बारे कोई मंथन करती : राठौर

भाजपा का किसान विरोधी चेहरा सामने आ गया : प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष

  • देश के किसान ही अब इस अहंकारी व तानाशाही मोदी सरकार के पतन का बनेंगे कारण

शिमला : किसान जो मानव जाति का अन्न दाता है आज सरकार की दमनकारी नीतियों का शिकार बन गया है। किसान विरोधी उनकी नीतियों ने आज देश के किसानों को अपनी आवाज उठाने के लिए सड़कों पर उतरने को मजबूर कर दिया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने हरियाणा सरकार पर आरोप लगाया है कि वह किसानों की आवाज दबाने का प्रयास कर रही है। कुलदीप सिंह राठौर ने आज एक बयान में किसानों को अपनी मांगों के समर्थन में दिल्ली कूच से रोकने के भाजपा सरकार के प्रयासों की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि वह किसानों के संवैधानिक अधिकारों का हनन कर रही है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आजाद भारत में कृषि के काले कानून बना कर सरकार आज किसानों को फिर से गुलाम बनाने के प्रयास कर रही है।

राठौर ने कहा कि देश का किसान आज अपने भविष्य को लेकर चिंतित है। उन्होंने कहा कि उनकी चिंता पूरी तरह बाजिव भी है। उन्होंने केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि पिछले तीन महीनों से किसान इन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे है पर केंद्र ने इनको पूरी तरह अनसुना किया है।

उन्होंने कहा कि किसानों के अल्टीमेटम के बाद उनका दिल्ली कूच कोई गलत कदम नहीं है। किसानों के साथ-साथ देश के लोगों को अपनी बात कहने व सरकार के किसी भी निर्णय के खिलाफ आंदोलन करने का पूरा संवैधानिक अधिकार है,जिसे कोई नहीं छीन सकता। उन्होंने किसानों पर लाठीचार्ज, आंसूगैस व पानी की बौछारें फेंकने की निंदा करते हुए कहा है कि भाजपा का किसान विरोधी चेहरा सामने आ गया है।

राठौर ने कहा है देश के किसान अब एकजुट हो गए है। उनकी आवाज को मोदी सरकार अब नहीं दबा सकती। उन्होंने कहा है कि देश के किसान ही अब इस अहंकारी व तानाशाही मोदी सरकार के पतन का कारण बनेंगे।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *