जिला शिमला में चुनाव प्रक्रिया के लिए पोलिंग बूथ पहुंचे 4110 कर्मचारी : उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी

उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने की लोगों से अपील: “दिवाली” दीयों और रौशनी का पर्व, इसे शोर और प्रदुषण का पर्व न बनाएं

  • उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने दी जिला व शहरवासियों को दिपावली की शुभकामनाएँ

  • पटाखों का कम इस्तेमाल करें ताकि प्रदुषण वृद्धि को रोका जा सके

  • दीवाली पर्व के पर एसएमएस का पालन अनिवार्य रूप से करें और सामाजिक दूरी बनाए रखें

  • बाजार में खरीददारी करते हुए अधिक भीड़ न लगने दें, दो गज की दूरी के नियम का करें पालन

शिमला: उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने समस्त जिला व शहरवासियों को दिपावली पर्व की शुभकामनाएं दी हैं।  इस अवसर पर उन्होंने कहा कि दिपावली प्रकाश का पर्व है। हम जीवन में दीपों के प्रकाश से उजियारा करें और पटाखों से किनारा करें। उन्होंने कहा कि यह प्रयास रहें कि पटाखों का कम इस्तेमाल करें ताकि प्रदुषण वृद्धि को रोका जा सके । उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए तथा सांस की बीमारी से ग्रस्त मरीजों को इस दौरान धुएं के प्रदुषण से होने वाली तकलीफ से बचाया जा सके। 

उन्होंने कहा कि दीवाली के इस पर्व के दौरान एसएमएस का पालन अनिवार्य रूप से करें अर्थात सामाजिक दूरी बनाए रखें। मास्क का उपयोग अवश्य करें, हाथों को निरन्तर धोते रहें अथवा सैनेटाईजर का उपयोग करते रहें। बाजार में खरीददारी करते हुए अधिक भीड़ न लगने दें तथा दो गज की दूरी के नियम का पालन करें ।

उन्होंने कहा कि प्रायः यह देखने में आया है कि कोरोना से संक्रमित लोगों को पटाखों से होने वाले प्रदुषण के कारण दिक्कतों का सामना करना पडता है। इसलिए उन्होंने सभी से अनुरोध किया कि पटाखें कम से कम चलाएं। उन्होंने कहा कि यदि आसपास कोई कोरोना से पीडित रोगी हो तो वहां पर पटाखे न चलाएं। दिवाली दियों और रौशनी का पर्व है। इसे शोर और प्रदुषण का पर्व न बनाएं। 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *