प्रदेश सरकार प्रदेश के किसानों, बागवानों की आवाज दबाने का प्रयास न करें : राठौर

नोटबंदी के बाद अच्छे दिन आने को कब पूरे होंगे 50 दिन : राठौर

शिमला: कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबन्दी के बाद देश से 50 दिनों की मोहलत को याद करवाते हुए पूछा है कि अच्छे दिनों के संपने दिखाने वाले प्रधानमंत्री के वह 50 दिन कब पूरे होंगे। आज राजीव भवन में पत्रकारवार्ता के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि आज के दिन 8 नव 2016 को देश के प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने रात 8 बजे एक विशेष संदेश से देश की अर्थव्यवस्था पर नोटबन्दी का एक तुगलकी फरमान जारी कर 500 व 1000 के नोट बंद करके जो चोट पहुचाई है,उससे देश आज दिन तक नही उभर पा रहा है। मोदी ने देश को भरोसा दिलाया था कि उन्हें 50 दिनों का समय दे सबकुछ ठीक हो जाएगा। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा था कि अगर व्यवस्था न सुधरी तो देश जो भी सजा देगा उसे वह खुशी से स्वीकार करेंगे। उन्होंने कहा कि आज चार साल हो गए,देश की अर्थव्यवस्था इससे आज तक नही उभर पा रही है। इसका सबसे बड़ा असर देश के उद्योगों पर पड़ा जिनके बंद होने से लाखो लोग बेरोजगार हो गए। उन्होंने कहा कि नोटबन्दी के दौरान एक ओर जहां लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा,वही 100 से अधिक लोगों को अपनी जान तक गवानी पड़ी।

राठौर ने कहा कि कांग्रेस आज इसके विरोध में विश्वासघात दिवस मना रही है क्योंकि प्रधानमंत्री ने देश के विश्वास को तोड़ा है। उन्होंने आरोप लगाया कि नोटबन्दी से पूर्व उन्होंने किसी से भी कोई विचार विमर्श नही किया। उन्होंने कहा कि देश जानना चाहता है कि उन्होंने किस के इशारे पर इतना बड़ा फैसला लिया था।

राठौर ने  कहा कि सत्ता परिवर्तन के बाद अगर इसकी जांच होगी तो नोटबन्दी देश का सबसे बड़ा आर्थिक घोटाला सामने आएगा। उन्होंने कहा कि नोटबन्दी के बाद भाजपा के पास पैसा कहाँ से आ गया जो आज देश व जिलों मे अपने आलीशान कार्यालय बना रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर राहुल गांधी की चेतावनी को दर किनार कर आज देश बड़ी विकट स्थिति पर पहुंच गया है।

राठौर ने कहा कि आरबीआई ने भी खुलासा किया है कि नोटबन्दी के बाद 99 प्रतिशत नोट वापिस आये है। नोटबन्दी के बाद नए नोटो की छपाई पर 2015-16 में 3,421 करोड़ का खर्च आया जबकि 2016 -17 में यह बढ़कर दुगना यानी 7,965 करोड़ आया। साफ है कि  इस नोटबन्दी ने देश को पूरी तरह बर्बाद कर दिया और देश की अर्थव्यवस्था पर गहरी चोट पहुंचाई है।

राठौर ने कहा कि विदेशों से काला धन वापिस लाने का दावा करने वाले प्रधानमंत्री ने देश का धन ही बाहर भेज दिया। इनके सहयोगी बैंकों का करोड़ो अरबो लोन लेकर आज भी विदेशों में ऐश कर रहें है। मोदी इन लोगों को भारत वापिस तक नही ला पाए।उन्होंने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाया कि वह देश को पूंजीपतियों के इशारे पर चला रहें है।

वहीं  राठौर ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को आगह किया कि अगर उन्होंने रोहतांग टनल में सोनिया गांधी की शिलान्यास पट्टिका लगाने में अधिक विलम्ब किया तो इसके उन्हें कांग्रेस के किसी भी बड़े आंदोलन से निपटने को तैयार रहना होगा। उन्होंने कहा कि जबकि मुख्यमंत्री कह रहे है कि पट्टिका बीआरओ के पास सुरक्षित है तो वह किस बात का इंतजार कर रहे हैं। उसे पुनर्स्थापित करने में देरी क्यों की जा रही है।

पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए राठौर ने स्पष्ट किया कि सवाल सोनिया गांधी के नाम की पट्टिका का नहीं है। सवाल लोकतांत्रिक परम्पराओं का और इतिहास का है। इससे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ कांग्रेस स्वीकार नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि कुल्लू और केलांग में इसके विरोध में विरोध प्रदर्शन जारी है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *