केंद्र से मिली लुहरी जल विद्युत परियोजना को मंजूरी, करीब 2000 को मिलेगा रोजगार

केंद्र से मिली लुहरी जल विद्युत परियोजना को मंजूरी, करीब 2000 को मिलेगा रोजगार

  • परियोजना से 40 वर्षों के परियोजना अवधि चक्र में प्रदेश को करीब 1140 करोड़ रुपये की निःशुल्क विद्युत का मिलेगा लाभ

  • मुख्यमंत्री ने किया केंद्र का लुहरी चरण-एक जलविद्युत परियोजना के लिए निवेश स्वीकृत करने पर आभार व्यक्त

शिमला: केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शिमला और कुल्लू जिलों में सतलुज नदी पर 210 मैगावाट लुहरी, चरण-एक जलविद्युत परियोजना के लिए 1810.56 करोड़ रुपये का निवेश स्वीकृत करने के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आभार व्यक्त किया है। इस परियोजना से वार्षिक 758.20 मिलियन यूनिट बिजली का उत्पादन होगा। प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय कमेटी ने यह निवेश स्वीकृत किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह परियोजना बिल्ड-ओन-आपरेट-मेनटेन (बूम) आधार पर भारत सरकार और राज्य सरकार की सक्रिय सहायता से सतलुज जलविद्युत निगम लिमिटेड द्वारा कार्यान्वित की जा रही है। इस परियोजना का हिमाचल प्रदेश सरकार के साथ  समझौता ज्ञापन राइजिंग हिमाचल ग्लोबल इन्वेस्टर मीट के दौरान किया गया था, जिसका शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7 नवंबर, 2019 को किया था। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार 66.19 करोड़ रुपये का अनुदान प्रदान कर इस परियोजना में सहायता कर रही है ताकि आधारभूत ढांचे को सक्रिय किया जा सके। इससे बिजली दरों को कम करने में मदद मिलेगी।

जय राम ठाकुर ने कहा कि लुहरी चरण-एक जलविद्युत परियोजना को लगभग 5 वर्षों में कार्यशील किया जाएगा और इस परियोजना से तैयार होने वाली बिजली से ग्रिड में स्थिरता लाने और बिजली आपूर्ति सुधार में सहायता मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस परियोजना के माध्यम से लगभग 2000 लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे तथा राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास में मदद मिलेगी। लुहरी चरण-एक जलविद्युत परियोजना से 40 वर्षों के परियोजना अवधि चक्र में हिमाचल प्रदेश को लगभग 1140 करोड़ रुपये की निःशुल्क विद्युत का लाभ मिलेगा।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *