मुख्यमंत्री ने हरोली विधानसभा क्षेत्र को दी 71.16 करोड़ रुपये की सौगात

मुख्यमंत्री ने हरोली विधानसभा क्षेत्र को दी 71.16 करोड़ रुपये की सौगात

 ऊना : जिला ऊना के हरोली विधानसभा क्षेत्र में लगभग 71.16 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज शिलान्यास व लोकार्पण किए। मुख्यमंत्री ने 3.50 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दुलेहड़ के नए भवन, गोंदपुर में 4.68 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 33 केवी उप-केन्द्र और बाथु-बठारी कारीडोर क्लस्टर क्षेत्र में 1.25 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित जलापूर्ति योजना के उद्घाटन किए।

जय राम ठाकुर ने जल जीवन मिशन के तहत हरोली विधानसभा क्षेत्र में शेष बचे हुए गांवों के लिए 3.75 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली पेयजल आपूर्ति योजना, 30 करोड़ रुपये की लागत से एनएच-503ए झलेड़ा-घालुवाल सड़क के उन्नयन और सुधार कार्य, 9.21 करोड़ रुपये की लागत से पुरानी सलोह-भरोटी सड़क का स्तरोन्यन कार्य, पंडोगा में 8 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले आईटीआई के नए भवन, 2.60 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पंजावर-बठारी से माता का मन्दिर लोअर बढेरा सड़क वाया राजेश हाउस नालका से कुम्हारन आबादी सम्पर्क मार्ग, 7.25 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली पंजावर-बठारी से लालड़ी-नंगल कलां-जाटपुर सड़क के सुदृढ़ीकरण और औद्योगिक क्षेत्र टाहलीवाल फेस-3 में 92 लाख रुपये की लागत से बनने वाले अपशिष्ट जल निष्पादन के लिए नालियों के निर्माण कार्य की भी आधारशिला रखी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष के नेता सुर्खियों में बने रहने के लिए वर्तमान प्रदेश सरकार पर आधारहीन आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस केवल राजनीति और ख्याली पुलाव बनाने में विश्वास रखती है लेकिन वर्तमान प्रदेश सरकार सपनों को साकार करने में विश्वास रखती है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार इस वर्ष 27 दिसम्बर को अपने तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा करने जा रही है। उन्होंने कहा कि इन तीन वर्षों में प्रदेश सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि सरकार द्वारा चलाई जा रही विकासात्मक और कल्याणकारी योजनाएं प्रदेश के अंतिम पायदान तक पहुंचे। उन्होंने कहा कि पूर्व कांग्रेस सरकार के फिजूल खर्चों के कारण वर्तमान प्रदेश सरकार को 47,500 करोड़ रुपये का कर्ज विरासत में मिला था, जो प्रदेश के विकास में सबसे बड़ी बाधा थी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के जन मंच कार्यक्रम से राज्य के लोगों को घर-द्वार पर उनकी समस्याओं के त्वरित समाधान संभव हो सका है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1100 इस दिशा में एक और प्रयास है और इसके तहत लगभग एक लाख समस्याओं का समाधान किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार यह भी सुनिश्चित कर रही है कि कोई भी झूठी शिकायत दर्ज न हो और दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई अमल में लाई जाए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *