जिला परिषद सदस्यों की लोगों को बुनियादी सुविधाएं जुटाने में में अहम भागीदारी : उपायुक्त डीसी राणा

जिला परिषद सदस्यों की लोगों को बुनियादी सुविधाएं जुटाने में में अहम भूमिका : उपायुक्त डीसी राणा

  • जिला परिषद सदस्यों की जिले के विकास में अहम भागीदारी : उपायुक्त

  • मनरेगा कन्वर्जेंस के अधिकाधिक उपयोग के माध्यम से हो सकते हैं बड़े विकास कार्य- धर्म सिंह पठानिया

  • लम्बे समय से खर्च नहीं हो रहे फंड का किया जाए उपयोग

  • रोगी कल्याण समितियों की बैठकों का किया जाए आयोजन

  • कोविड-19 वायरस के प्रति जागरूकता और बचाव में प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के सराहनीय कार्य

  • सीएचसी चूड़ी में तैनात होगा चिकित्सक

  • जल शक्ति विभाग पेयजल किल्लत से निपटने को लेकर बनाए कार्य योजना

चंबा”: उपायुक्त डीसी राणा ने कहा कि जिला परिषद सदस्यों की भूमिका जिला के विकास में महत्वपूर्ण रहती है। आने वाले समय में भी जिला के विशेषकर ग्रामीण विकास में लोगों को बुनियादी सुविधाएं जुटाने में जिला परिषद सदस्यों की भागीदारी इसी तरह सक्रिय तौर पर रहनी चाहिए। उपायुक्त ने कहा कि जिला परिषद सदस्य जिला के समग्र विकास के लिए अपने सुझाव भी उन्हें अवश्य दें। उपायुक्त ने यह बात आज बचत भवन में आयोजित जिला परिषद की बैठक में शिरकत करते हुए कही। इस मौके पर उपायुक्त को जिला परिषद की ओर से उन्हें चंबा जिला का कार्यभार संभालने पर सम्मानित भी किया गया।

जिला परिषद अध्यक्ष धर्म सिंह पठानिया ने बैठक में भाग लेने के लिए उपायुक्त का आभार जताते हुए कहा कि विभिन्न विकास कार्यों में मनरेगा कन्वर्जेंस का जितना अधिक उपयोग रहेगा उतनी ही बड़ी योजनाओं को कार्यान्वित किया जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि जिन पुराने कार्यों के लिए आवंटित फंड का उपयोग नहीं हो पाया है उन्हें किसी अन्य योजना में स्थानांतरित करके उसे खर्च किया जाना चाहिए ताकि जिले को विकास कार्यों के लिए मिली धनराशि का पूरा उपयोग सुनिश्चित हो सके। बैठक के दौरान ये निर्णय भी लिया गया कि जिले में जिन रोगी कल्याण समितियों की बैठकों का अभी तक आयोजन नहीं हो पाया है उनकी बैठकों का आयोजन जल्द किया जाना चाहिए ताकि कोविड-19 के दौर में अस्पताल की मूलभूत जरूरतों को रोगी कल्याण समिति के फंड के माध्यम से पूरा किया जा सके।

जिला परिषद सदस्यों ने कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति लोगों को जागरूक करने और संक्रमण से बचाव को लेकर प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग द्वारा उठाए गए कदमों की भी प्रशंसा की। जिला परिषद अध्यक्ष ने कहा कि चंबा जिला में राष्ट्रीय जल विद्युत निगम की परियोजनाओं के अलावा निजी जलविद्युत परियोजनाओं के प्रबंधन को कोविड-19 के वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए एंबुलेंस की सुविधाएं मुहैया करनी चाहिए। बैठक में मेडिकल कॉलेज अस्पताल में स्थापित कोविड वार्ड में शौचालय की व्यवस्था ना होने के मुद्दे पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने कहा कि इस समस्या को मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के समक्ष रखा जाएगा ताकि इसका जल्द समाधान हो सके। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चूड़ी में चिकित्सक की सुविधा ना होने की शिकायत पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने आश्वस्त करते हुए कहा कि आगामी सोमवार से चिकित्सक की सेवा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चूड़ी में शुरू कर दी जाएगी। स्वास्थ्य अधिकारी ने अवगत किया कि अगले एक सप्ताह के भीतर जिन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में ऑक्सीजन की उपलब्धता नहीं है उन्हें भी ऑक्सीजन की आपूर्ति कर दी जाएगी।

मौजूदा सूखे की खेती को देखते हुए जिला परिषद अध्यक्ष ने कहा कि जल शक्ति विभाग को इस दिशा में जल्द कार्य योजना तैयार रखनी चाहिए ताकि लोगों को पेयजल की असुविधा ना रहे। बैठक में चमेरा चरण 3 के परियोजना प्रभावित क्षेत्रों के प्रभावितों को मिलने वाले लंबित भुगतान को लेकर भी चर्चा की गई। उपायुक्त डीसी राणा ने कहा कि इस मसले की समीक्षा करके उचित फैसला लिया जाएगा। उपायुक्त ने इस मौके पर हिंदी करण में बेहतरीन कार्य के लिए पंचायती राज विभाग के अधिकारी और कर्मचारी को प्रशस्ति पत्र देकर पुरस्कृत भी किया।

बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त मुकेश रेपसवाल के अलावा जिला पंचायत अधिकारी महेश चंद, अधिशासी अभियंता बिजली बोर्ड पवन शर्मा, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ जालम भारद्वाज, विभिन्न विकास खंडों के खंड विकास अधिकारी, जिला परिषद सदस्य और अन्य विभागीय अधिकारी भी मौजूद रहे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *