वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के साथ ऑनलाइन कार्यक्रम लॉंच

नौणी और वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के साथ ऑनलाइन कार्यक्रम लॉंच

सोलन:डॉ. यशवंत सिंह परमार औदयानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी और वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के बीच शॉर्ट टर्म अंतरराष्ट्रीय कृषि अनुसंधान कार्यक्रम हाल ही में ऑनलाइन मोड के माध्यम से शुरू किया गया। इस कार्यक्रम को विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (ICAR) की राष्ट्रीय कृषि उच्चतर शिक्षा योजना (NAHEP) के तहत शुरू किया जा रहा है। राष्ट्रीय कृषि उच्चतर शिक्षा योजना का हिस्सा कई भारतीय कृषि विश्वविद्यालय भी है।

राष्ट्रीय कृषि उच्चतर शिक्षा योजना के तहत शुरू किए गए इस ऑनलाइन कार्यक्रम का शीर्षिक ‘नवोन्मेष और उद्यमिता कार्यक्रम – कल के उद्यमी’ है। राष्ट्रीय कृषि उच्चतर शिक्षा परियोजना में नौणी विवि को संस्थागत विकास परियोजना प्रदान की गई है। भारत के कई कृषि विश्वविद्यालय, जो राष्ट्रीय कृषि उच्चतर शिक्षा योजना का हिस्सा हैं, ने भी इस कार्यक्रम के लिए वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के साथ करार किया है।

ऑनलाइन प्रोग्राम लॉन्च कार्यक्रम में आईसीएआर के एडीजी (इंटरनेशनल) डॉ. ए अरुणाचलम, और नौणी विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. परविंदर कौशल भी शामिल हुए। इसके अलावा सभी भागीदार कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति- डॉ नज़ीर अहमद, कुलपति, शेर-ए-कश्मीर यूनिवर्सिटी फॉर एग्रीकल्चरल साइंस एंड टेक्नोलॉजी; डॉ. अनुपम मिश्रा, कुलपति सेंट्रल एग्रिकल्चरल यूनिवर्सिटी, इंफाल; डॉ. अजॉय कुमार सिंह, कुलपति बिहार कृषि विश्वविद्यालय; डॉ. राजेंद्र प्रसाद, कुलपति यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रिकल्चरल साइन्स बैंगलोर और डॉ. आरएस श्रीवास्तव, कुलपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद सेंट्रल एग्रिकल्चरल यूनिवर्सिटी भी लॉन्च समारोह में शामिल हुए।

इस कार्यक्रम का उद्देश्य कृषि, बागवानी और वानिकी विज्ञान में उच्च प्रदर्शन करने वाले अंतिम वर्ष के स्नातक छात्रों के लिए एक नवाचार और उद्यमिता कार्यक्रम विकसित करना है जो छात्रों को अनुसंधान, शिक्षा या व्यवसाय में भविष्य के लीडर बनने के लिए प्रेरित करेगा। इस कार्यक्रम में शिक्षण, उद्योग से अनुसंधान-सूचित नए ज्ञान और व्यावसायिक मामलों के संपर्क के माध्यम से होगा, जो छात्रों को उद्यमिता की ओर आकर्षित करेगा।

इस अवसर पर नौणी विवि के कुलपति डॉ परविंदर कौशल ने वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय और सभी साझेदार कृषि विश्वविद्यालयों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि सभी इस साझेदारी के लिए उत्सुक हैं क्योंकि इससे हमारे छात्रों और संकाय को नवाचार और उद्यमिता दोनों में समकालीन ज्ञान और व्यावहारिक महत्व रखने वाले तकनीकों और उपकरणों के बारे में सीखने का मौका मिलेगा। नौणी विश्वविद्यालय के तीन कॉलेजों से कुल 60 अंतिम वर्ष के स्नातक छात्र इस 20-सप्ताह के पाठ्यक्रम का हिस्सा बनने का मौका मिलेगा। डॉ. कौशल ने बताया कि इन छात्रों को वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय का दौरा करने और वास्तविक जीवन के उदाहरण और अत्याधुनिक शोध सीखने के लिए नए अनुसंधान क्षेत्रों और व्यापारिक लीडरों के बारे में जागरूकता विकसित करने और शोधकर्ताओं के साथ बातचीत करने के अवसर मिलेगें।

इस कार्यक्रम में MANAGE, ICICI फाउंडेशन और AUSTRADE के प्रतिनिधियों ने भी भाग लिया। वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय की ओर से प्रोफेसर देबोराह स्वीनी, डिप्टी वीसी और उपाध्यक्ष (रिसर्च, एंटरप्राइज एंड इंटरनेशनल), प्रोफेसर आमिर महमूद, डीन स्कूल ऑफ बिजनेस, प्रोफेसर इयान एंडरसन, डॉ निशा राकेश, स्टुअर्ट फारवेल, कार्यक्रम में शामिल हुए। नौणी विवि के वैधानिक अधिकारी, आईडीपी के समन्वयक और सभी टीम सदस्य भी लॉन्च समारोह का हिस्सा बने। नौणी विवि ने हाल ही में वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए है। जल्द ही वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के साथ मिलकर स्नातक छात्रों के लिए उद्यमिता विकास, रिमोट सेंसिंग और वैज्ञानिक संख्या पर तीन अल्पकालिक ऑनलाइन पाठ्यक्रम भी शुरू किए जाएंगे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *