मुख्यमंत्री ने दिए कंडक्टर भर्ती प्रश्न पत्र लीक मामले में जांच के आदेश

मुख्यमंत्री ने दिए कंडक्टर भर्ती प्रश्न पत्र लीक मामले में जांच के आदेश

शिमला: हिमाचल पथ परिवहन निगम में कंडक्टरों की भर्ती के लिए आयोजित परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने  कड़ा संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उसे बख़्शा नहीं जाएगा और उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि लिखित परीक्षाएं पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से आयोजित की जाएं ताकि भविष्य में इस तरह की कोई घटना घटित न हो।

 रविवार को प्रदेशभर में कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से कंडक्टर भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन किया गया। शिमला के एपी गोयल विवि सेंटर से कंडक्टर भर्ती परीक्षा देने पहुंचे अभ्यर्थी ने मोबाइल से तस्वीरें लेकर पेपर व्हाट्सएप पर आगे भेज दिया। अभ्यर्थी ने कितने लोगों के व्हाट्सएप पर पेपर आगे भेजा इसकी छानबीन जारी है। मामले की जांच एसडीएम को सौंपी गई है।
पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सोलन में भी एक अभ्यर्थी को परीक्षा हाल में मोबाइल के साथ पकड़ा गया। एक ने अभ्यर्थी ओएमआर शीट भी सोशल मीडिया पर वायरल की है। कर्मचारी चयन आयोग ने दावा किया है कि पेपर लीक नहीं हुआ है। शिमला में पेपर वायरल करने वाला अभ्यर्थी तीन साल तक कोई परीक्षा नहीं दे पाएगा। सोलन के आरोपी अभ्यर्थी को भी अपात्र घोषित किया गया है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *