हिमाचल: राजकीय सम्मान के साथ किया गया पूर्व डीजीपी अश्विनी कुमार का अंतिम संस्कार

हिमाचल: राजकीय सम्मान के साथ किया गया पूर्व डीजीपी अश्विनी कुमार का अंतिम संस्कार

  • राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने निधन पर जताया शोक 

शिमला. हिमाचल प्रदेश के पूर्व डीजीपी और सीबीआई के निदेशक रहे अश्वनी कुमार का गुरुवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। बता दें कि अश्वनी कुमार ने शिमला में बुधवार देर शाम सुसाइड कर लिया था। गुरुवार को शिमला के आईजीएमसी अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद उनका शिमला में अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनके बेटे ने उन्हें मुखाग्नि दी। अंतिम संस्कार में हिमाचल प्रदेश के ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी, कांग्रेस विधायक दल के नेता मुकेश अग्निहोत्री और प्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रमुख सुखविंदर सुखी तथा कुमार के रिश्तेदार समेत कई लोग शामिल हुए।

सीबीआई के पूर्व निदेशक 69 वर्षीय कुमार ने बुधवार को छोटा शिमला के पास ब्रोकहर्स्ट स्थित अपने आवास में कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी।

डीजीपी ने कहा कि उन्होंने स्पष्ट सुसाइड नोट लिखा है,जिसमें किसी को भी जिम्मेदार नहीं ठहराया है। उन्होंने कहा कि सुसाइड नोट में अश्वनी कुमार ने लिखा है कि गंभीर बीमारी के चलते वो ये कदम उठा रहे हैं, किसी को दोषी नहीं ठहराया है। सब खुश रहें,ये कामना की हैं। सुसाइड नोट में आगे लिखा है कि अपनी इच्छा से ये जीवन समाप्त कर रहे हैं और अगली यात्रा पर निकल रहे हैं।

अश्वनी कुमार साल 2006 से 2008 तक वो हिमाचल के डीजीपी रहे। अगस्त 2008 से नवंबर 2010 तक सीबीआई के निदेशक पद पर रहे। मार्च 2013 में उन्हें नगालैंड का राज्यपाल नियुक्त किया गया था। 2014 में राज्यपाल के पद से उन्होंने त्यागपत्र दे दिया था। वहां से लौटने के बाद शिमला में एक निजी यूनिवर्सिटी में प्रो चांसलर और वाइस चांसलर के पद पर रहे।

अंतिम संस्कार के दौरान डीजीपी हिमाचल, पूर्व डीजीपी सीताराम मरडी, विधायक सुखविंद्र सिंह सुक्खू डीजी जेल सोमेश गोयल, पूर्व मंत्री जीएस बाली, पूर्व विधायक रोहित ठाकुर ने पूर्व डीजीपी को श्रद्धासुमन अर्पित किए।

इस दौरान राज्यपाल और सीएम के प्रतिनिधि के तौर पर एडीसी, सीएम की ओर से उनके प्रधान सचिव जेसी शर्मा ने श्रद्धांजलि दी है।

  • राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने अश्विनी कुमार के निधन पर जताया शोक 

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक अश्विनी कुमार के निधन पर शोक व्यक्त किया है, जिनका बुधवार को शिमला के ब्राॅकहस्र्ट स्थित अपने निवास स्थान पर निधन हो गया। अश्विनी कुमार ने नागालैंड के राज्यपाल और सीबीआई के निदेशक के पद भी अपनी सेवाएं दीं।

राज्यपाल ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त की हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अश्विनी कुमार ने पूरी निष्ठा व समर्पण के साथ अपनी सेवाएं प्रदान कीं जिसके लिए प्रदेश के लोग उन्हें सदैव याद रखेंगे।

जय राम ठाकुर ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शान्ति तथा शोक संतप्त परिवार को इस अपूर्णीय क्षति को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की कामना की है।

  • कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह  ने अश्विनी कुमार के निधन पर जताया शोक 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, पूर्व सासंद प्रतिभा सिंह शिमला ग्रामीण के कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने मणिपुर,नागालैंड के राज्यपाल, सीबीआई के पूर्व निदेशक,व प्रदेश पुलिस प्रमुख रहें आईपीएस अधिकारी अश्वनी कुमार के निधन पर गहरा दुःख प्रकट करते हुए दिवगंत आत्मा की शान्ति की प्रार्थना की है व शोक संतप्त परिवार को अपनी संवेदना भेजी है।

वीरभद्र सिंह ने अपने शोक संदेश में उनकी आत्महत्या पर गहरा दुख जताते हुए कहा कि उनके जाने से प्रदेश ने एक महान व्यक्तित्व और  कुशल प्रशासक खो दिया।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश के पुलिस महानिदेशक रहते अश्विनी कुमार ने पुलिस सुधारो के जो कार्य किये,उसके लिय उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा।उन्होंने कहा कि अश्वनी कुमार प्रदेश के ऐसे पहले पुलिस अफसर थे जो सीबीआई के प्रमुख पद तक पंहुचे ।अपने सरल स्वभाव और कुशल प्रशासक  के चलते सरकारी सेवानिवृत्ति के बाद भारत सरकार ने उन्हें मणिपुर नगालैंड का राज्यपाल नियुक्ति किया था।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि एक सामान्य परिवार से सम्बंध रखने वाले अश्वनी कुमार प्रदेश व देश के प्रमुख पदों तक पंहुचे इसलिए उनके प्रदेश व देश को दिए योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *