कृषि कानून विधेयक का विरोध करने वाले दल कर रहे किसानों को भ्रमित : डॉ. राकेश शर्मा

कृषि कानून विधेयक का विरोध करने वाले दल कर रहे किसानों को भ्रमित : डॉ. राकेश शर्मा

शिमला: कृषक उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सुविधा) विधेयक 2020, कृषक (सशक्तिकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020 पारित होने से किसानों को फायदा होगा और इन बिलों के पास होने के बाद किसान अपनी फसल को और अधिक दामों पर कहीं पर भी बेच सकता है यह बात आज शिमला प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए भाजपा किसान मोर्चा  के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. राकेश शर्मा ने कही ।

इस मौके पर मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष नरेश चौहान, भाजपा जिला किसान मोर्चा के अध्यक्ष संजीव चौहान पिंकू, प्रदेश मीडिया सह प्रभारी करण नंदा, प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी आभा ठाकुर, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अरविंद शर्मा, कार्यालय सचिव महेंद्र ठाकुर, सचिव नरेंद्र ठाकुर मौजूद रहे।

उन्होंने कहा कि अब किसान बिचैलियों के चंगुल से मुक्त होगा और साथ ही किसान को अपनी उपज को अपने इच्छानुसार मूल्य पर कहीं पर भी बेचने की आजादी मिलेगी।

उन्होंने कहा कि पहले किसानों का बाजार सिर्फ मण्डी तक सीमित था, उनके खरीददार सीमित थे, बुनियादी ढांचे की कमी थी और मूल्यों में पारदर्शिता नहीं थी। इस कारण किसानों को परिवहन लागत, लंबी कतारों, नीलामी में देरी और स्थानीय माफियाओं की मार झेलनी पड़ती थी। उन्होंने कहा कि इससे कृषि क्षेत्र की अर्थव्यवस्था मजबूत होने से देश की आर्थिक स्थिति और सुदृढ़ होगी। किसानों का “एक देश – एक बाजार’’ का सपना भी पूरा होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और इन विधेयकों का विरोध करने वाले दल किसानों को भ्रमित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार समय-समय पर किसानों की आय को दोगुना करने के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य में लगातार बढौ़तरी कर रही है।

किसान मोर्चा के अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस पार्टी इन विधेयकों को लेकर जो देशभर में विरोध प्रदर्शन कर रही है वह केवल नौटंकी मात्र है, क्योंकि कांग्रेस पार्टी व इसके नेताओं को इन विधेयकों की वास्तविक जानकारी नहीं है और अगर होती तो वह कभी किसान हित के इन विधेयकों का विरोध नहीं करते। जिस राजनीतिक दल ने दशकों तक देश पर शासन किया हो, जिसने हमेशा किसानों को अंधकार और गरीबी में रखा हो, उसे भला यह बदलाव कैसे अच्छा लग सकता है इसलिए वे इसका विरोध कर रहे हैं। यह वही लोग हैं जिनके शासन में किसानों की हालत बद से बदतर होती गई। आज जब केन्द्र सरकार किसानों को सशक्त करने की दृष्टि से कदम आगे बढ़ा रही है तो कांग्रेस पार्टी इसमें बाधा उत्पन्न कर अपने किसान विरोधी होने का स्पष्ट प्रमाण दे रही है।

डॉ. राकेश शर्मा ने कहा कि भाजपा किसान मोर्चा केन्द्र सरकार द्वारा पास इन विधेयकों के दो लाख पत्रक किसानों तक पहुॅंचाकर व हस्ताक्षर अभियान चलाकर विधेयकों के लाभ से अवगत करवा रहा है और इन विधेयकों को लेकर प्रदेश में किसान  काफी खुश भी हैं और केन्द्र सरकार तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  का इन विधेयकों के लिए आभार व्यक्त कर रहे हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *