केंद्र की एनडीए नेतृत्व मोदी सरकार ने देश को बर्बादी की राह पर ला कर खड़ा कर दिया : राजीव शुक्ला

केंद्र की एनडीए नेतृत्व मोदी सरकार ने देश को बर्बादी की राह पर ला कर खड़ा कर दिया : राजीव शुक्ला

शिमला: अखिल भारतीय कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदेश कांग्रेस मामलों के प्रभारी राजीव शुक्ला ने पार्टी पदाधिकारियों का आह्वान किया है कि उन्हें एकजुटता के साथ भाजपा के दुष्प्रचार का मुंह तोड़ जबाब देना है। उन्होंने कहा कि देश आज बहुत ही गम्भीर चुनौती से गुज़र रहा है।एक तरफ कोविड 19 से लड़ने की चुनौती है तो दूसरी तरफ देश की गिरती अर्थव्यवस्था है। उन्होंने कहा कि केंद्र की एनडीए नेतृत्व मोदी सरकार ने देश को बर्बादी की राह पर ला कर खड़ा कर दिया है,इसलिए कांग्रेस को देश की इन चुनौतियों से एकजुटता के साथ लड़ना है और देश को इस कुशासन से मुक्ति दिलानी है।
आज राजीव भवन में प्रदेश कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारियों की एक बैठक को सम्बोधित करते हुए शुक्ला ने कहा कि वह जल्द ही प्रदेश का दौरा करेंगे।उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस मजबूत स्थिति में है।उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सबको साथ लेकर बेहतर काम कर रहें है।उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि सभी कांग्रेस जन मैदान में डट जाए और केंद्र की जनविरोधी नीतियों खिलाफ मोर्चा खोलते हुए लोगों को जागरूक करें।
शुक्ला ने कहा कि देश मे नोटबन्दी हो,या जीएसटी इस निर्णय ने देश की अर्थव्यवस्था चोपट करके रख दी है।अब किसानों को भी नही बक्शा गया है।आज देश का किसान भी चिंतित है।उन्होंने कहा कि देश की चिंता कांग्रेस को हे और सत्ता में आने पर वह इन सब चिन्ताओं को दूर करेगी।
इससे पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने राजीव शुक्ला का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेश में कोविड 19 के चलते कांग्रेस ने पूरे तमनम धन से लोगों की हरसंभव मदद की।उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस पूरी मजबूती के साथ एकजुट होकर केंद्र व प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ लड़ रही है।उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अपना विपक्ष का दायित्व बड़ी मजबूती से निभा रही है।
इससे पूर्व पार्टी के कई पदाधिकारियों ने अपने अपने विचार रखते हुए शुक्ला के प्रदेश प्रभारी बनने पर बधाई दी। शुक्ला के यहां पंहुचने पर पार्टी पदाधिकारियों ने बड़ी गर्मजोशी के साथ उनका परंपरागत रूप से स्वागत किया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *