पोस्ट ऑफिस के सेविंग अकाउंट के नियमों में हुआ बदलाव, जानिए अब कितना मिनिमम बैलेंस रखना है जरूरी

पोस्ट ऑफिस के सेविंग अकाउंट के नियमों में हुआ बदलाव, जानिए अब कितना मिनिमम बैलेंस रखना है जरूरी

पोस्ट ऑफिस ने सेविंग अकाउंट से जुड़े कुछ नियमों में बदलाव किया है। नियमों में इन बदलावों की जानकारी होना जरूरी है। अगर कस्टमर इन नियमों का पालन नहीं करते हैं तो उन्हें नुकसान उठाना पड़ सकता है। डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट ने पोस्ट ऑफिस अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की सीमा को बढ़ाकर 50 रुपये से 500 रुपये कर दी है। आपके खाते में कम से कम 500 रुपये होने ही चाहिए, नहीं तो वित्तीय वर्ष के अंतिम वर्किंग डे को पोस्ट ऑफिस आप से 100 रुपये पेनल्टी के रूप में वसूलेगा और ऐसा हर साल किया जाएगा।

अगर खाते में जीरो बैलेंस होगा तो अकाउंट को अपने आप बंद कर दिया जाएगा। डाकघर वर्तमान में व्यक्तिगत / संयुक्त बचत खातों पर प्रति वर्ष 4 प्रतिशत ब्याज देता है। बचत खाते में न्यूनतम बैलेंस 500 रुपये होना जरूरी है।

अगर आप सरकार सब्सिडी का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको अपना पोस्ट ऑफिस अकाउंट आधार से लिंक करना होगा। इस संबंध में हाल ही में डाक घर ने एक सर्कुलर भी जारी किया था।

डाक विभाग के सर्कुलर में कहा गया है कि लोग अपने पोस्ट ऑफिस सेविंग्स अकाउट में डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर (DBT) का लाभ ले सकते हैं। कॉलम खाता खोलने के एप्लीकेशन या परचेज ऑफ सर्टिफिकेट फॉर्म में आधार को लिंक करने का नया कॉलम भी नजर आएगा।

पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खोलने पर कई सुविधाएं मिलती हैं। गैर-चेक सुविधा वाले खाते में आवश्‍यक न्यूनतम शेष धनराशि 50/- रुपए है। वित्तीय वर्ष 2012-13 से अर्जित ब्याज प्रति वर्ष 10000 रुपये तक कर मुक्त है।

खाता किसी नाबालिग व्‍यक्ति के नाम से भी खोला जा सकता है। 10 साल और उससे अधिक आयु के नाबालिग व्‍यक्ति खाता खोल सकते हैं और संचालित भी कर सकते हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *