भाजपा देश में लोकतंत्र व नागरिक अधिकारों का हनन कर रही है : राठौर

भाजपा की नीतियों ने आज देश को बर्बादी की राह पर लाकर खड़ा कर दिया : राठौर

शिमला: कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने देश की लगातार गिरती विकास दर पर,जीडीपी पर चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि उन्हें नहीं लगता कि मौजूदा सरकार देश को इस मंदी से उभारने में सफल हो पाएगी। उन्होंने आरोप लगाया है कि भाजपा की नीतियों ने आज देश को बर्बादी की राह पर ला कर खड़ा कर दिया है।
राठौर ने आज यहां कहा कि देश में बर्बादी का दौर उसी रात से शुरू हो गया था जिस रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना तुगलकी फरमान जारी कर एकाएक नोटबन्दी का ऐलान किया था। उन्होंने कहा कि इसके बाद देश मे बगैर किसी विचार विमर्श के बगैर किसी तैयारी के जीएसटी लागू कर देश के उद्योगों की कमर ही तोड़ दी। उन्होंने कहा कि नोटबन्दी से लेकर जीएसटी तक के मनमाने निर्णयों ने आज देश की अर्थव्यवस्था को तहस नहस कर दिया है।
राठौर ने कहा है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी देश के प्रति अपनी जिम्मेदारी से मोदी सरकार को समय समय पर आगह करते रहें है,पर खेद का विषय है कि मोदी न तो विपक्ष को ही सुनना चाहते हैं और न ही देश के लोगों को। उन्होंने कहा कि आज जब देश कोविड 19 की मार झेल रहा है,ऐसे में भी मोदी सरकार न तो देश की चिंता कर रही है और न ही लोगों की। उन्होंने कहा है कि लॉक डाउन की वजह से देश के करोड़ों लोंगो को अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ा है, इनके पुर्नवास की भी सरकार के पास कोई भी योजना अब तक नहीं बनी है।
राठौर ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के स्टार्टअप इंडिया के तहत चलाए जा रहे कार्यक्रम में पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के उस संदेश को जिसमें उन्होंने देश की जीडीपी शून्य से नीचे 24 प्रतिशत जाने पर घोर निराशा जताई है, कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कांग्रेस पार्टी के उठाए गए सभी प्रश्नों के उत्तर देने चाहिए, जिससे लोगों को देश की वास्तविक स्थिति की जानकारी मिल सकें।उन्होंने कहा है कि एक तरफ जहां देश मे गरीबी फैल रही है वहीं दूसरी ओर कुछ पूंजीवादी अमीर बनते जा रहें है। देश मे अमीर और गरीब के बीच खाई बढ़ती जा रही है जो भारत जैसे विकासशील देश के लिए एक बड़ा खतरा साबित हो सकती है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *