कोरोना के क़हर से जनता में हाहाकार, बेपरवाह सरकार राजनीति में डटी हुई : अग्निहोत्री 

कोरोना के क़हर से जनता में हाहाकार, बेपरवाह सरकार राजनीति में डटी हुई : अग्निहोत्री 

  • प्रदेश में मचा हुआ खुदकुशियों का तांडव और सरकार के मंत्री जश्न मनाने में व्यस्त : अग्निहोत्री 

  • कोरोना में 466 खुदकुशियां चिंताजनक, सरकार के दावों की खोल रही पोल 

शिमला: प्रतिपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कहा है कि हिमाचल प्रदेश में कोरोना के क़हर  में खुदकुशियों का तांडव मचा हुआ है और प्रदेश सरकार के मंत्री जश्न मना रहे हैं। रिकोर्ड तोड़ खुदकुशियों से बेपरवाह जयराम सरकार के मंत्री अपने स्वागतों में डटे हैं। लोग मर रहे हैं भाजपा के लोग मंत्रियों  को कंधो पर उठाकर झूम रहे हैं। मुक़ेश अग्निहोत्री ने सवाल किया कि क्या कोरोना का क़ानून सिर्फ़ विपक्ष के लिए ही है? क्या सत्ता में विराजमान लोगों को उसमें छूट दे रखी है। विपक्ष विरोध प्रदर्शन करे तो मामले दर्ज, मगर सरकार सारे में नाचती रहे। यह दोहरा क़ानून नहीं चलेगा।

मुख्यमंत्री भी सारे प्रदेश में पटिकाएं लगाकर दिल बहला रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी आंकड़े गवाह हैं कि जयराम सरकार के कार्यकाल में 2 हजार ख़ुदकुशी के मामले आ चुके हैं। किसी सरकार के समय में भी इतना क़हर नहीं बरपा। 

2018 में 780 और 2019  में 710 लोगों ने खुदकुशी की। मगर कोरोना में 466 खुदकुशियां चिंताजनक है और सरकार के दावों की पोल खोलता है। देव भूमि में जुलाई में 101 और जून में 112 व  मई में 89 खुदकुशी के मामले आये हैं। ऐसे में यह सरकार विकास के लिए नहीं, खुदकुशियों के लिए जानी जाएगी। उन्होंने कहा कि हर बार सरकारी आंकड़ों को सरकार यह कह कर नकार देती है कि ना जाने मुकेश अग्निहोत्री आंकड़े कहाँ से लाए? अबकी बार तो पुलिस ने बाक़ायदा पत्रकार सम्मेलन कर जारी किए हैं। उन्होंने कहा  कि लोगों की नौकरियां छिन गई, बेरोजगारी बढ़ गई, मगर सरकार अलोकप्रिय निर्णय लेती जा रही है। अब बिजली के दाम भी बढ़ा दिये। राशन, बिजली और सफ़र महंगा कर दिया है। जनता में हाहाकार से बेपरवाह सरकार राजनीति में डटी है। जबकि खुदकुशियों के अलावा बलात्कार के आंकड़े भी चौंकाने वाले हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *