मुख्यमंत्री ने विधायकों को दिए विकासात्मक परियोजनाओं की निगरानी करने के निर्देश 

मुख्यमंत्री ने विधायकों को दिए विकासात्मक परियोजनाओं की निगरानी करने के निर्देश 

  • सभी घोषणाएं निर्धारित समय अवधि के भीतर लागू की जाएं
  • कांगड़ा जिला के स्वास्थ्य संस्थानों में डाॅक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के खाली पद जल्द भरे जाएंगे

शिमला : मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज धर्मशाला में कांगड़ा जिला के मंत्रियों, सांसदों, विधायकों और जिला स्तर के अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सभी विकासात्मक परियोजनाओं को समयबद्ध पूरा करना सुनिश्चित करें ताकि परियोजनाओं की मूल्य वृद्धि न हो और लोगों को विकास का लाभ मिल सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके द्वारा की गई घोषणाओं के कार्यान्वयन पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। विभिन्न विभागों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सभी घोषणाएं निर्धारित समय अवधि के भीतर लागू की जाएं। उन्होंने संबंधित विधायकों से इनकी निगरानी करने का आग्रह किया ताकि घोषणाओं को जल्द से जल्द लागू किया जाए। राज्य का सबसे बड़ा जिला होने के नाते, सरकार इस जिले के विकास का विशेष बल दे रही है। उन्होंने कहा कि हालांकि कोविड-19 महामारी ने राज्य में विकास की गति को प्रभावित किया है, लेकिन अब सरकार विभिन्न विकास परियोजनाओं को समय सीमा में पूरा करने के लिए कृत संकल्प और निरन्तर पर्यत्नशील है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यद्यपि कांगड़ा राज्य का सबसे बड़ा जिला है, इसके बावजूद जिला प्रशासन कोविड-19 मामलों की संख्या को नियंत्रण में रखने में सफल रहा है। उन्होंने कहा कि सामाजिक दूरी अपनाने व फेस मास्क के उपयोग पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए तथा सभी प्रकार के सामाजिक समारोहों से भी बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि पचास से अधिक लोगों की सामाजिक, सांस्कृतिक और धार्मिक सभा से बचने के लिए लोगों को प्रेरित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि आम जनता के बीच इस वायरस से जुड़े सामाजिक कलंक को दूर करने का भी प्रयास किया जाना चाहिए और निर्वाचित प्रतिनिधियों की इस संबंध में एक प्रमुख भूमिका है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि जिला के स्वास्थ्य संस्थानों में डाॅक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के खाली पदों को जल्द से जल्द भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि जिले के सभी प्रमुख अस्पतालों में विशेषज्ञ चिकित्सक उपलब्ध कराने का भी प्रयास किया जाएगा। कांगड़ा जिले में आयुष्मान भारत और हिमकेयर लाभार्थियों की बड़ी संख्या है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके द्वारा घोषित सभी नई सड़कों और पुलों पर कार्य प्राथमिकता से किया जाना चाहिए ताकि वे जल्द से जल्द पूरा हो सकें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई), नाबार्ड, सीआरएफ आदि के अन्तर्गत परियोजनाओं को पूरा करने को प्राथमिकता दी जाए। उन्होंने कहा कि विधायक प्राथमिकताओं को समय पर पूरा करने पर बल दिया जाना चाहिए। उन्होंने एफआरए और एफसीए के विभिन्न मामलों की शीघ्र मंजूरी की आवश्यकता पर भी बल दिया ताकि विभिन्न सड़क परियोजनाओं के कार्य वन मंजूरियां मिलने के कारण बाधित न हो सके।उन्होंने कहा कि उन परियोजनाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए जो पूर्ण होने वाली हैं, ताकि उन्हें जल्द से जल्द पूरा किया जा सके।

जय राम ठाकुर ने कहा कि जिले में जल जीवन मिशन, ब्रिक्स (बीआरआईसी) आदि के तहत कार्यान्वित की जा रही विभिन्न सिंचाई और पेयजल परियोजनाओं में तेजी लाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि विभिन्न परियोजनाओं की डीपीआर तैयार की जानी चाहिए और उनकी उचित निगरानी की जानी चाहिए ताकि उन्हें जल्द से जल्द पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि जहां आवश्यक होगा वहां अतिरिक्त धन या अन्य मुद्दों को संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों के समक्ष प्रस्तुत करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने विभिन्न परियोजनाओं के तहत व्यय नहीं की गई राशि का पता लगाने के लिए एक कैबिनेट सब कमेटी का गठन किया है। इस राशि को स्थानीय प्रतिनिधियों की सहमति से दूसरी परियोजनाओं में उपयोग करने के लिए प्रक्रिया विकसित की जाएगी। कोविड महामारी के कारण उत्पन्न परिस्थितियों से निपटने के लिए केंद्र सरकार, प्रदेश सरकार को हर संभव सहायता प्रदान कर रही है। राज्य सरकार की विकासात्मक प्रतिबद्धताओं को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए। अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि सरकार द्वारा चलाई जा रही विकासात्मक परियोजनाओं के क्रियान्वयन में कोई ढील न हो। विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कांगड़ा जिले के विकास में गहरी रुचि के लिए उनका धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी में भी मुख्यमंत्री ने जिले में विकास कार्यों की समीक्षा करने के लिए जिले का दौरा किया है। यह जिले के विकास के प्रति राज्य सरकार की चिंता को दर्शाता है।

 

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *