किसानों-बागवानों की आर्थिकी सुदढ़ करने के लिए प्रदेश की विभिन्न मण्डियों को किया जाएगा और अधिक विकसित

किसानों-बागवानों की आर्थिकी सुदढ़ करने के लिए प्रदेश की विभिन्न मण्डियों को किया जाएगा और अधिक विकसित

…जिसके तहत जल्द 190 करोड़ रुपये के विकास कार्य किए जाएंगे शुरू

शिमला: किसानों बागवानों की आर्थिकी को सुदढ़ करने के लिए प्रदेश की विभिन्न मण्डियों को और अधिक विकसित किया जाएगा, जिसके तहत जल्द 190 करोड़ रुपये के विकास कार्य आरम्भ किए जाएंगे। ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि, पशुपालन, मत्स्य पालन मंत्री वीरेन्द्र कंवर ने आज पराला मण्डी में विभिन्न कार्यों का निरीक्षण करने के उपरांत यह जानकारी दी।

इस अवसर पर आढ़ती ऐसोसिएशन के अध्यक्ष निटू चौहन बोर्ड के अध्यक्ष बलदेव भंडारी, प्रबंध निदेशक एपीएमसी नरेश ठाकुर, ठियोग मण्डल भाजपा अध्यक्ष दुनी चंद, स्थानीय प्रधान राजेन्द्र शर्मा, उपमण्डलाधिकारी ठियोग के.के. शर्मा, डीएसपी कुलविन्द्र सिंह भी उपस्थित थे।

वीरेन्द्र कंवर ने पराला मण्डी में विभिन्न गतिविधियों के विस्तारीकरण के लिए 153 करोड़ रुपये देने की घोषणा भी की, जिसके तहत पराला सब्जी मण्डी में विस्तारीकरण के द्वितीय चरण में 9 करोड़ रुपये की लागत से निर्माण कार्य किए जाएंगे। पराला मण्डी में सीए स्टोर स्थापित करने के लिए 60 करोड़ रुपये की राशि व्यय की जाएगी, जबकि 84 करोड़ रुपये की लागत से प्रोसेसिंग प्लांट की स्थापना की जाएगी। उन्होंने कहा कि पराला सब्जी मण्डी लघु व सीमांत किसानों व बागवानों को उनके घरद्वार के समीप उत्पाद पहुंचाने के लिए बेहतर विकल्प है, जिससे समय की बचत के साथ-साथ पैसे की बचत भी होती है।
उन्होंने पराला सब्जी मण्डी के साथ लगती विभिन्न सड़कों की मुरम्मत व समतल करने के लिए 21 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि आढ़तियों को लेन-देन की सुविधा व पैसे की उपलब्धता की सुगमता के लिए जल्द ही बैंकों का कैश व एक्सटैंशन काउंटर खोला जाएगा।
उन्होंने पराला मण्डी में आढ़तियों और बागवानों से चर्चा कर उनकी विभिन्न समस्याओं की जानकारी भी प्राप्त की। उन्होंने आश्वासन दिया कि इन समस्याओं के निराकरण के लिए प्राथमिकता के आधार पर कार्य कर इनका निवारण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पराला मण्डी को और अधिक विकसित करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा हर संभव सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी।
उन्होंने बागवानों व आढ़तियों से कोरोना संकटकाल के दौरान प्रदेश सरकार तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी की गई सलाहों को अनिवार्य रूप से मानने की अपील की ताकि कोरोना संक्रमण से बचाव किया जा सके। उन्होंने कहा कि दो गज की दूरी, चेहरे को मास्क से ढकना, निरंतर साबुन से हाथ धोने व सैनेटाइजर का उपयोग करना तथा भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से बचना इस दिशा में सभी सक्रिय सहयोग प्रदान करें।
इस अवसर पर एपीएमसी ढली-किन्नौर के अध्यक्ष नरेश शर्मा ने कृषि मंत्री का स्वागत किया तथा जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना महामारी के संकटकाल के बावजूद भी पराला मण्डी के तहत लगभग 4 लाख सेब बाॅक्स का व्यापार किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि गत वर्ष पराला मण्डी के अंतर्गत 21 लाख सेब के बाॅक्सिस बेचे गए थे, जिससे एपीएमसी किन्नौर-ढली को अच्छा राजस्व प्राप्त हुआ था।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *