मुख्यमंत्री ने डाॅ. गौरव शर्मा को न्यूजीलैंड में सांसद बनने पर दी बधाई

प्रदेश सरकार ने वर्चुअल जनसंवाद कार्यक्रम के नाम के लिए मांगे सुझाव

  • सुझाव भेजने की अंतिम तिथि 15 अगस्त

शिमला:  प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि कोरोना महामारी से उत्पन्न हुए संकट में भी मुख्यमंत्री वर्चुअली प्रदेशवासियों के संपर्क में रहे और जनसमस्याओं का जानने का हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। इसी ध्येय को साकार करने की दृष्टि से मुख्यमंत्री प्रदेशवासियों के लिए एक कार्यक्रम शुरू करना चाहते हैं। यह कार्यक्रम सोशल मीडिया, रेडियो व टेलीविजन के माध्यम से माह में एक बार प्रसारित होगा।

उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में प्रदेशवासियों से जुड़ी बातों का जिक्र किया जाएगा। इस कार्यक्रम के लिए प्रदेश में आम नागरिक अपने सुझाव सांझा कर सकते हैं। विशेष है कि यह कार्यक्रम ‘‘मन की बात’’ की तर्ज पर आयोजित होगा। ऐसे में प्रदेशवासी राज्य में हुई घटनाओं, प्रेरणादायक कार्यों या हिमाचल सरकार के कार्यों एवं योजनाओं के संबंध में अपने सुझाव सांझा कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से राज्य का आम नागरिक मुख्यमंत्री तक अपने व्यक्तिगत विचार पहुंचा सकता है। निश्चित तौर पर कार्यक्रम आमजन के लिए सहायक सिद्ध होगा। इस कार्यक्रम का प्रसारण हिमाचल प्रदेश सूचना एवं जन संपर्क विभाग और हिमाचल माईगव द्वारा किया जाएगा।

राज्य सरकार ने इस आॅनलाइन यानी वर्चुअल जनसंवाद कार्यक्रम के आकर्षक नाम के लिए प्रदेशवासियों से सुझाव आमंत्रित किए हैं। आकर्षक नाम सुझाने वाले प्रतिभागी को मुख्यमंत्री 5000 रुपए की राशि बतौर ईनाम प्रदान करेंगे। सुझाव भेजने की अंतिम तिथि 15 अगस्त तय की गई है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वे माईगव से कार्यक्रम का नाम अवश्य साझा करें और इससे संबंधित सुझाव दें।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *