6-7 अगस्त को ली जाने वाली निर्धारित अलाइड मुख्य परीक्षा को स्थागित करने की कांग्रेस अध्यक्ष ने की मांग

6-7 अगस्त को ली जाने वाली निर्धारित अलाइड मुख्य परीक्षा को स्थागित करने की कांग्रेस अध्यक्ष ने की मांग

  • कोविड 19 के बढ़ते संक्रमण के चलते फिलहाल इस परीक्षा को तब तक स्थगित कर दिया जाना चाहिए, जब तक की इसका संक्रमण कम नहीं हो जाता : राठौर

शिमला: कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा 6 व 7 अगस्त को ली जाने वाली निर्धारित अलाइड मुख्य परीक्षा को स्थागित करने की मांग सरकार से की है।उन्होंने कहा है कि प्रदेश में कोविड 19 के बढ़ते संक्रमण के चलते फिलहाल इस परीक्षा को तबतक स्थगित कर दिया जाना चाहिए, जब तक की इसका संक्रमण कम नहीं हो जाता।
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि प्रदेश प्रशासनिक सेवा की मुख्य परीक्षा में देशभर अनेक राज्यों से अभियार्थी इसमें भाग लेते है।चूंकि प्रदेश में यह संक्रमण बाहरी व अन्य राज्यों से आने वाले लोगों की वजह से ही फैल रहा है, इसलिए इसके  व्यापक खतरें को देखते हुए जनहित में अभी स्थागित करना ही उचित होगा।
राठौर ने कहा कि जैसा कि शिमला, धर्मशाला व मंडी में आयोजित होने वाली इस परीक्षा में अभियार्थी सम्भतः ऐसे स्थानों में से गुज़र कर भी आ सकते हैं जो कोविड 19 संक्रमण से बहुत ज्यादा प्रभावित है। उन्होंने कहा है कि ऐसे में इसका खतरा ओर अधिक बढ़ सकता है।
राठौर ने कहा कि अभी तक प्रदेश में होटल व अन्य परिवहन के साधन और अन्य खाने पीने की गतिविधियां भी सही ढंग से शुरू नही हो पाई है,ऐसे में दूर दराज से आने वाले अभ्यर्थियों को भारी समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है।
राठौर ने लोक सेवा आयोग के उस निर्णय जिसमें यह कहा गया है कि जो अभियार्थी कोरोना संक्रमित या कंटेन्मेंट जोन से आता है उसे अलग कमरा या क्वारन्टीन सेंटर में बिठाकर परीक्षा ली जायेगी पर हैरानी जताते हुए कहा कि ऐसे परीक्षार्थियों के कमरें में किस प्रकार निष्पक्ष परीक्षा ली जाएगी। उन्होंने कहा है कि इस प्रकार के कोई भी बेतुके निर्णय अभ्यर्थियों के मनोबल को प्रभावित कर सकते हैं।इसलिए फिलहाल इस परीक्षा को स्थागित किया जाना चाहिए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *