हिमाचल में जो भी टूरिस्ट आ रहे हैं वह प्रोटोकॉल को फोलो करते हुए आ रहे हैं : जयराम ठाकुर

हिमाचल में जो भी टूरिस्ट आ रहे हैं वह प्रोटोकॉल को फोलो करते हुए आ रहे हैं : जयराम ठाकुर

  • ..अब तक टूरिज्म सेक्टर में एक भी पॉजिटिव केस नहीं आया

शिमला: राज्य एकल खिड़की अनुश्रवण एवं स्वीकृति प्राधिकरण की बैठक के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए  मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर  कहा यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि कांग्रेसी हिमाचल के लोगों का हिमाचल में आने का विरोध कर रहे हैं।  उन्होंने  कहा कि कांग्रेस जैसी पार्टी जो देश व प्रदेश में लंबे समय सत्ता में रही है, वह हिमाचल के बच्चों का हिमाचल में आने का विरोध कर रही है। कोरोना के दौर में हिमाचल के लाखों लोग बाहरी राज्यों में फंसे थे और घर आना चाहते थे। उन्हें हिमाचल आने की मंजूरी दी गई। नियम और कानून के तहत की दो लाख से ज्यादा लोगों को लाया गया। क्या सरकार का दायित्व नहीं बनता था कि संकट में फंसे हिमाचल के लोगों की रक्षा की जाए। क्या हिमाचल के इन लोगों को बाहर मरने के लिए छोड़ दिया जाता। सरकार ने अपना नैतिक दायित्व निभाया।

उन्होंने कहा कि संकट के इस दौर में सरकार विकास कार्य भी करवा रही है और संकट से बचने के उपाय भी कर रही है। कांग्रेस सिर्फ राजनीति कर रही है। हम इंतजार कर रहे हैं कि हिमाचल में यह दौर समाप्त हो और फिर हम मैदान में मिलेंगे।  हिमाचल की सीमाएं पर्यटकों के लिए खोलने के मामले में कांग्रेस की बयानबाजी पर सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि अच्छा होता कांग्रेसी नेता राजस्थान की तरफ देखते। राजस्थान में हिमाचल की तुलना में अधिक कोरोना मामले हैं। फिर भी वहां हिमाचल से पहले पर्यटकों को आने की अनुमति दी गई। हिमाचल में जितनी शर्ते पर्यटकों के लिए रखी गई हैं वह देश के किसी भी राज्य में नहीं हैं। कोरोना लॉकडाउन व कर्फ्यू के बाद अनलॉक में कई सेक्टर खोल दिए गए थे। टूरिज्म भी एक सेक्टर है। इसमें बहुत सारे लोग बेरोजगार हो गए हैं। कईयों के होटल व व्यवसाय बंद हो चुके हैं। इसके लिए कई लोगों का आग्रह पहुंचा था। हां कुछ इसमें सहमत हैं और कुछ सहमत नहीं हैं, लेकिन इसके लिए किसी पर दबाव नहीं है। हिमाचल में जो भी टूरिस्ट आ रहे हैं वह प्रोटोकॉल को फोलो करते हुए आ रहे हैं। गाइडलाइन में किसी भी तरह की छूट नहीं दी जा रही है। उन्होंने कहा कि अब तक टूरिज्म सेक्टर में एक भी पॉजिटिव केस नहीं आया है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *