शिमला दयानंद पब्लिक स्कूल ने ऑनलाइन मनाया अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

शिमला दयानंद पब्लिक स्कूल ने ऑनलाइन मनाया अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

  • प्रधानाचार्य अनुपम ने कहा: योग दिवस को पूरे विश्व में मनाया जाना प्रत्येक भारतवासी के लिए गरिमा और गौरव की बात
  • इस वर्ष का थीम  रहा : घर में रहते हुए अपने परिवार के साथ योग करना

शिमला: अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर दयानंद पब्लिक स्कूल, द मॉल, शिमला के समस्त विद्यार्थियों अभिभावकों व शिक्षकों ने योग के प्रति जागरूकता दिखाते हुए योग दिवस मनाया।

योग दिवस मनाने का उद्देश्य लोगों में योग के प्रति जागरूकता पैदा करना और लोगों को तनाव मुक्त रखना है। इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु विद्यालय में यह योग दिवस दो श्रेणियों में मनाया गया। इस ऑनलाइन योग दिवस का सफल आयोजन आर्ट ऑफ लिविंग संस्था के द्वारा किया गया। प्रातः कालीन सत्र का आयोजन कक्षा पांचवी से आठवीं तक के विद्यार्थियों के लिए प्रातः 8:00 से 8:40 तक किया गया।  प्रातः कालीन सत्र का संचालन कुमारी रुकमणी देवी (राज्य संचालक) द्वारा किया गया। संस्था के द्वारा अभिभावकों के लिए शेष सत्र का आयोजन भी किया गया।

 संध्या कालीन सत्र का आयोजन कुमारी श्रेया (राष्ट्रीय संयोजक) के द्वारा किया गया। इस संस्था के द्वारा कक्षा नवीं से बारहवीं  तक के विद्यार्थियों के लिए सायः 4 से 5 तक किया गया। दोनों सत्रों का संचालन व निर्देशन डॉ. संतोष वर्मा (असिस्टेंट प्रोफेसर) प्रबंधन विभाग, हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की देखरेख में किया गया। कुमारी रुकमणी देवी द्वारा साय: कालीन सत्र मैं भी अपनी भूमिका अदा की। विद्यालय की प्रधानाचार्य अनुपम ने आमंत्रित अतिथियों, अभिभावकों व विद्यार्थियों का हार्दिक अभिनंदन किया व इस आयोजन को सफल बनाने के लिए सभी को धन्यवाद दिया। साथ ही प्रधानाचार्या ने  कहा कि निश्चय ही योग भारतीय संस्कृति का मूलाधार है, जिसने पूरे विश्व में अपनी पहचान हासिल की है। योग के माध्यम से भारत की योग शक्ति और संस्कृति आज पूरे विश्व में पहुंच रही है। भारत में योग का इतिहास बहुत पुराना है। शास्‍त्रों में भी योग की भरपूर चर्चा मिलती है। योग दिवस को पूरे विश्व में मनाया जाना प्रत्येक भारतवासी के लिए गरिमा और गौरव की बात है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *