हिमकोस्ट ने सूर्यग्रहण पर विद्यार्थियों से मांगे राइट-अप और पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन

हिमकोस्ट ने सूर्यग्रहण पर विद्यार्थियों से मांगे राइट-अप और पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन

  • तीन पेजों का राइट अप या पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन में अधिकतम 10 स्लाइड नहीं होनी चाहिए
  • विद्यार्थी  23 जून, 2020 तक अपनी प्रविष्टियां  dhar_shashi2000@yahoo.com पर भेज सकते हैं
  • सर्वश्रेष्ठ प्रविष्टियों को किया जाएगा सम्मानित 
शिमला:  हिमाचल प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में वार्षिक सूर्य ग्रहण दिखाई देगा। ग्रहण सुबह 10.23 मिनट पर आरम्भ होगा तथा यह अधिकतम 12.03 मिनट पर होगा और दोपहर 1.48 मिनट पर समाप्त होगा। सूर्य ग्रहण दोपहर के आसपास 95 प्रतिशत होगा। हिमाचल प्रदेश में 25 साल बाद ऐसी खगोलीय घटना होने जा रही है।
इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं पर्यावरण परिषद् (हिमकोस्ट) एलर्ज़ली बिल्डिंग, सचिवालय शिमला की पार्किंग के पास और पदम देव काॅम्पलेक्स, रिज शिमला में सीमित दर्शकों के लिए सूर्य ग्रहण देखने की व्यवस्था कर रहा है। इसका उद्देश्य विज्ञान को बढ़ावा देना व लोकप्रिय बनाना है, जिससे इस तरह की खगोलीय घटनाओं से जुड़ी भ्रांतियों और अंधविश्वासों को दूर किया जा सके।हिमकोस्ट
हिमकोस्ट ने खगोलीय घटना को देखने के अपने अनुभवों पर, इस घटना के साक्षी बने विभिन्न स्कूलों में पढ़ रहे छात्रों से राइट-अप/पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन लेने का निर्णय किया है। तीन पेजों का राइट अप या पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन में अधिकतम 10 स्लाइड नहीं होनी चाहिए। विद्यार्थी 23 जून, 2020 तक अपनी प्रविष्टियां  dhar_shashi2000@yahoo.com पर भेज सकते हैं। सर्वश्रेष्ठ प्रविष्टियों को उपयुक्त रूप से सम्मानित किया जाएगा।
हिमकोस्ट ने संबंधित जिलों के प्राथमिक शिक्षा उपनिदेशकों से सोलर फिल्टर की व्यवस्था करने को कहा है, ताकि इस अद्वितीय घटना को आम लोग देख सके। आम लोग अपने संबंधित जिलों में उप निदेशक प्राथमिक शिक्षा कार्यालय द्वारा निर्दिष्ट स्थान पर सूर्य ग्रहण देख सकते हैं।

सम्बंधित समाचार

One Response

Leave a Reply
  1. Aniketan Angaria
    Jun 21, 2020 - 12:25 PM

    Nice

    Reply

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *