क्वारन्टीन पर सरकार व प्रशासन के दोहरे मापदंड सहन नहीं किये जा सकते : रजनीश किमटा

क्वारन्टीन पर सरकार व प्रशासन के दोहरे मापदंड सहन नहीं किये जा सकते : रजनीश किमटा

शिमला: प्रदेश कांग्रेस महासचिव रजनीश किमटा ने स्पीति में कृषि मंत्री रामलाल मार्कडे के क्वारन्टीन के चलते उनके प्रवेश का विरोध करने वालों के खिलाफ किसी भी कानूनी कार्यवाही की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि अगर प्रशासन ने ऐसा कोई कदम उठाया तो कांग्रेस चुप बैठने वाली नही।उन्होंने कहा है कि स्पीति की महिलाओं ने कृषि मंत्री को क्वारन्टीन के चलते अपने क्षेत्र में कोविड 19 के प्रति नियम और कानून का पालन करते हुए उनके वहां आने का विरोध किया था।उन्होंने कहा है कि क्वारन्टीन पर सरकार व प्रशासन के दोहरे मापदंड सहन नहीं किये जा सकते।
किमटा ने कहा है कि भाजपा के नेता प्रदेश में क्वारन्टीन का खुला उल्लंघन कर रहे हैं।उन्होंने कहा है कि प्रदेश सरकार के दोहरे मापदंड के चलते प्रदेश में दिनों दिन कोरोना संक्रांति लोगों की संख्या में भारी बृद्वि हो रही है।उनका कहना है कि लॉक डाउन के चलते प्रदेश में जन जीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया है।
उन्होंने कहा है कि इस समय प्रदेश सरकार अंतर्कलह से जूझ रही है।भाजपा के भीतर जो अंतर्विरोध चल रहा है उसके परिणाम स्वरूप मुख्यमंत्री अपने नेताओं की बैठकों में मशरूफ है।प्रदेश में लोगों की समस्याओं और उनको दूर करने के कोई भी सार्थक प्रयास सरकार नही कर रही है।
रजनीश किमटा ने कहा अभी तक प्रदेश सरकार ने न तो किसानों, बागवानों को ही कोई राहत दी है न ही आम लोगों को न बेरोजगारों को ही।उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया है कि वह इस दौर में भी अपनी ओछी राजनीति से बाज नही आ रही है।उनका कहना है कि वर्चुअल रैलियां कर भाजपा अपने राजनैतिक एजंडे पर काम कर रही है।उनका कहना है कि भाजपा को इस समय विहार के चुनावों की पड़ी है देश की नही,जो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *