मुख्यमंत्री ने बिलासपुर जिले को दी करोड़ों की सौगात

मुख्यमंत्री ने बिलासपुर जिले को दी करोड़ों की सौगात

मुख्यमंत्री ने की श्री नयना देवी जी में डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा

मुख्यमंत्री ने की श्री नयना देवी जी में डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा

मुख्यमंत्री ने की श्री नयना देवी जी में डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने 5 करोड़ रुपये की धनराशि का प्रावधान करते हुए श्री नयना देवी जी में डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा की। उन्होंने बिलासपुर जिले के बस्सी में जनसभा को सम्बोधित करते हुए यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के सुदूरवर्ती भागों में शिक्षण संस्थान खोलने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि यह प्रसन्नता की बात है कि प्रदेश के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में खोले गए कॉलेजों और स्कूलों के माध्यम से विद्यार्थियों को घरद्वार के समीप बेहतर एवं गुणात्मक शिक्षा उपलब्ध हो रही है। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि इन शिक्षण संस्थानों में लड़कियों की संख्या लड़कों से अधिक है।

मुख्यमंत्री ने आज बस्सी में भारतीय महिला आरक्षित वाहिनी (आई.आर.बी.) परिसर का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त सिरमौर जिले में भारतीय महिला आरक्षित वाहिनी स्थापित की जाएगी। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बैहल में विज्ञान कक्षाएं आरम्भ करने की घोषणा की।

वीरभद्र सिंह ने कल्लर में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार प्रदेशवासियों को बेहतर पेयजल सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि मौजूदा पेयजल आपूर्ति योजनाओं का संवर्द्धन कर इनकी क्षमता को बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि मौजूदा सिंचाई योजनाओं के संवर्द्धन तथा और अधिक सिंचाई योजनाएं कार्यान्वित कर प्रदेश के सभी किसानों को सिंचाई सुविधा सुनिश्चित बनाई जाएगी।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने कल्लर में कल्लर-चड़ोल-मैथी उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना के संवर्द्धन कार्य का शिलान्यास किया, जिसपर 2 करोड़ रुपये व्यय किए जाएंगे तथा इससे क्षेत्र की 4 ग्राम पंचायतों की लगभग 11500 की आबादी लाभान्वित होगी। उन्होंने बिलासपुर में 15 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पार्किंग एवं वाणिज्यिक परिसर की आधारशिला भी रखी। उन्होंने बस्सी में 14 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पांचवीं भारतीय महिला आरक्षित वाहिनी के परिसर का उद्घाटन भी किया।

मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 लाख रुपये का अशंदान

श्री नयना देवी जी मन्दिर न्यास की अध्यक्ष एवं उपायुक्त बिलासपुर श्रीमती मानसी सहाय ठाकुर ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और मन्दिर न्यास की ओर से मुख्यमंत्री को 51 लाख रुपये का चैक मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए भेंट किया। श्री गुरमेल सिंह धरोट ने भी मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 12 हजार रुपये का चैक मुख्यमंत्री को भेंट किया।

मुख्यमंत्री ने श्री नयना देवी जी में जन समस्याएं भी सुनीं।

राज्य स्तरीय योजना विकास एवं 20-सूत्रीय कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति के अध्यक्ष राम लाल ठाकुर ने क्षेत्र के लिए 31 करोड़ रुपये लागत की विकासात्मक परियोजनाएं समर्पित करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने नयना देवी जी में डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा और कल्लर जलापूर्ति योजना के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने सत्ता में रहते हुए कल्लर जलापूर्ति योजना आरम्भ करने में कोई रूचि नहीं दिखाई। उन्होंने भाजपा पर चुटकी लेते हुए कहा कि बीजेपी को इस योजना के संवर्द्धन कार्य की आधारशिला रखने के लिए मुख्यमंत्री का आभारी होना चाहिए। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह के प्रभावी प्रयासों के कारण यूपीए सरकार ने प्रदेश में भारतीय महिला आरक्षित वाहिनी स्थापित करने की घोषणा की थी।

ठाकुर ने पैट्रोल और डीजल के मूल्यों में वृद्धि के लिए केन्द्र सरकार की आलोचना की और कहा कि एनडीए सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश का विशेष श्रेणी दर्जा समाप्त किया गया और कृषि, बागवानी तथा अन्य सम्बद्ध क्षेत्रों के लिए बजट आवंटन में भी कटौती की गई। उन्होंने क्षेत्र में हुए विकास कार्यों का श्रेय लगातार सत्तासीन रही कांग्रेस सरकारों को दिया और नयना देवी जी विधानसभा क्षेत्र में चल रही विकासात्मक गतिविधियों का ब्यौरा दिया। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, कोडांवाला और डैहर में विज्ञान कक्षाएं आरम्भ करने की मांग की।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *