स्वास्थ्य विभाग में हुईं तमाम खरीद पर श्वेतपत्र जारी करे सरकार: अग्निहोत्री

स्वास्थ्य विभाग में हुईं तमाम खरीद पर श्वेतपत्र जारी करे सरकार: मुकेश अग्निहोत्री

शिमला : नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के त्यागपत्र और स्वास्थ्य निदेशक की गिरफ्तारी के पूरे प्रकरण की हाईकोर्ट के पीठासीन न्यायाधीश से जांच करवाई जाए। हाईकोर्ट की निगरानी में मामले की तह तक जाकर अन्य गुनहगारों को सामने लाने को सरकार कदम उठाए।  अग्निहोत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में हुई तमाम खरीदीरी पर सरकार श्वेतपत्र जारी करे। 
मुकेश ने कहा कि इस समय वैश्विक महामारी से चारों तरफ त्राहि-त्राहि मची है। संवेदनशील दौर में स्वास्थ्य विभाग में हुआ खरीद घोटाला जाहिर तौर पर देशद्रोह की परिभाषा में आता है। जब से भाजपा सरकार प्रदेश में सत्तासीन हुई है, तभी से स्वास्थ्य विभाग कटघरे में है। पूर्व में भी भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के माध्यम से विभाग में भ्रष्टाचार का मामला उजागर हुआ था।
लॉकडाउन के बाद अब तक जितनी भी खरीद बिना टेंडर प्रक्रिया अपनाए हुई है, उसे भी सार्वजनिक किया जाए। बताया जाए कि खरीद के लिए कितने टेंडर किए गए और उनमें कितने रद्द हुए। कुछ समय पहले ही प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री को बदला गया था। कहा कि स्वास्थ्य विभाग मुख्यमंत्री के अधीन कार्य कर रहा है। इसलिए सरकार को मामले से पर्दा उठाना चाहिए। भाजपा अध्यक्ष का इस्तीफा प्रदेश की राजनीति में छोटी घटना नहीं है। इसके तार स्वास्थ्य घोटाले से जुड़े हैं। शुरूआत से अब तक हुए घटनाक्रम, जिसमें, पत्र बम से लेकर अब तक, तमाम घटनाक्रमों को जांच के दायरे में लाना चाहिए। कांग्रेस ने विधानसभा में भी स्वास्थ्य खरीद और सीएमओ के माध्यम से सवा सौ करोड़ की खरीद के मामले को प्रमुखता से उठाया था। पीपीई किट्स की खरीद को लेकर भी संशय बरकरार है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *