एसजेवीएन कर्मचारियों ने सीएम रिलीफ फंड में 1 दिन के वेतन से दिया 45 लाख रुपए का अंशदान

एसजेवीएन कर्मचारियों ने सीएम रिलीफ फंड में 1 दिन के वेतन से दिया 45 लाख रुपए का अंशदान

  • सीएमडी नन्द लाल शर्मा ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर को भेंट किया चेक
  • कोविड-19 से निपटने के लिए एसजेवीएन की अपनी परियोजनाओं में 48 क्वॉरेंटाइन यूनिटें स्थापित
  • कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में एसजेवीएन पीएम केयर्स फंड में दे चुका है 25 करोड़ रुपए का अंशदान : सीएमडी नन्द लाल शर्मा
  • मुख्यमंत्री ने इस पुनीत कार्य के लिए उनका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह दान कोरोना महामारी से निपटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा

शिमला: कोरोना वायरस महामारी का मुकाबला करने में एसजेवीएन केंद्र और प्रदेश सरकार को अपना हर संभव सहयोग देकर अपनी महत्वपूर्ण  भूमिका निभाता आ रहा है। हालांकि न केवल इस महामारी का मुकाबला करने के लिए अपितु हमेशा देश और प्रदेश की जरूरत के साथ एसजेवीएन हमेशा खड़ा हुआ है। 

एसजेवीएन के कर्मचारियों ने सीएम रिलीफ फंड में 1 दिन के वेतन के रूप में 45 लाख रुपए का अंशदान दिया। एसजेवीएनएल के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक नन्द लाल शर्मा ने आज यहां मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर को एसजेवीएनएल के कर्मचारियों की ओर से एक दिन के वेतन का मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 45 लाख रुपये का चेक भेंट किया।

इस अवसर पर निदेशक (विद्युत) आर.के. बंसल, निदेशक (कार्मिक) गीता कपूर, निदेशक (नागरिक) एस.पी. बंसल और निदेशक (वित्त) और निदेशक (वित्त) ए.के.सिंह भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

sjvn

sjvn

अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक नन्द लाल शर्मा ने चेक भेंट करते हुए मुख्यमंत्री को बताया कि एसजेवीएन तथा इसके कर्मचारी सदा राज्य तथा इसकी सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहे हैं। उन्होंने बताया कि एसजेवीएन तथा इसके कर्मचारियों ने कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्थिति की गंभीरता को देखते हुए सीएम रिलीफ फंड में 1 दिन के वेतन के बराबर राशि का अंशदान करने का फैसला किया है।

नंदलाल शर्मा ने  कहा कि  COVID 19 का संकट सबसे कठिन चुनौतियों में से एक है।  एसजेवीएन हमेशा ऐसे समय में देश और प्रदेश की जरूरत के साथ खड़ी हुई है। इस समय देश को हमारी जरूरत अधिक है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि एसजेवीएन के कर्मचारी कोरोना की चुनौती से निपटने के लिए पहले ही पीएम के फंड में 1 दिन के वेतन का अंशदान दे चुके हैं। उन्होंने यह भी बताया कि एसजेवीएन ने हिमाचल प्रदेश सरकार को 2 करोड़ रुपए की वित्तीय मदद उपलब्ध करवाई है, जिसका उपयोग हिमाचल प्रदेश सरकार के विभिन्न अस्पतालों में वेंटीलेटर, अन्य मेडिकल उपकरणों, निजी सुरक्षा उपकरणों, मॉस्कों, सैनिटाइजरों तथा ग्लब्‍स की खरीद के लिए किया जाएगा।

शर्मा ने बताया कि एसजेवीएन उन विभिन्न मुद्दों, जिनका राष्ट्र तथा इसके निवासियों पर प्रभाव पड़ता है, से निपटने के लिए सरकार तथा समाज की सहायता के लिए सदा आगे रहा है। कोविड-19 के फैलाव से निपटने के लिए एसजेवीएन ने अपनी परियोजनाओं में 48 क्वॉरेंटाइन यूनिटें स्थापित की हैं। उन्होंने यह भी बताया कि एसजेवीएन जरूरतमंदों को भोजन तथा अन्य जरूरी सामान के वितरण के लिए दिल खोलकर सहायता दे रहा है।

शर्मा ने यह भी कहा कि कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में एसजेवीएन पीएम केयर्स फंड में 25 करोड़ रुपए की राशि का अंशदान दे चुका है।

  • मुख्यमंत्री ने इस पुनीत कार्य के लिए उनका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह दान कोरोना महामारी से निपटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *