डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति कोरोना पॉजिटिव

एक जिला से दूसरे जिला को जाने के लिए कर्फ्यू पास की आवश्यकता : उपायुक्त कांगड़ा


धर्मशाला: उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत के दौरान जानकारी दी कि जिला कांगड़ा में सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक बहुत से दफ्तर खोले गए हैं। ऐसी स्थिति में हाई सिमटम के साथ अगर कर्मचारी आते हैं तो उसे आइसोलेट करना होगा। तुरंत इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को देनी होगी। जिला के भीतर किसी भी तरह के पास की जरूरत नहीं है, जबकि एक जिला से दूसरे जिला को जाने के लिए कर्फ्यू पास की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि सुबह सात से दो बजे तक ही दुकानें खुलेंगी। इसमें कोई अतिरिक्त ढील नहीं दी गई है। राकेश प्रजापति ने धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कोरोना से घबराने नहीं, जो भी लोग रेड जोन से आ रहे हैं, उन्हें अलग संस्थागत क्वारंटाइन किया गया है। वह लोगों के बीच में नहीं हैं, पहले से कांगड़ा जिला काफी सुरक्षित है। बैजनाथ में कोविड केयर सेंटर चल रहा है, डाढ और फतेहपुर के केंद्रों को भी सुचारू करने की तैयारी है।
डॉक्यूमेंट राइटर स्टांप वेंडर, नौटरी सुबह दस से दो बजे तक सोमवार और वीरवार को अपनी सेवाएं दे सकेंगे। रजिस्ट्रार व सब रजिस्ट्रार भी सेवाएं देंगे। निजी व सरकारी निर्माण कार्य चलते रहेंगे, इसमें कोई रोक नहीं है।
भारत सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक जिनके घर बड़े है व आइसोलेट करने की फैसलिटी है। जिनकों तुरंत मेडिकल सुविधा की जरूरत नहीं है, उन्हें घरों में ही आइसोलेट रखा जाएगा। इस वायरस से घबराने की जरूरत नहीं है।
सैलून संचालकों को ट्रेनिंग की व्यवस्था की जा रही है, उसके बाद ही सैलून खुल सकेंगे। इन्हें खुलने में एक सप्ताह का समय लग सकता है। सैलून संचालकों के लिए प्रशिक्षण शुरू हो चुका है। इसके लिए आवेदक को श्रम विभाग से संपर्क करना होगा। अगले सप्ताह तक प्रशिक्षित सैलून संचालक अपनी दुकानें खोल सकेंगे। सैलून के साथ-साथ स्टेडियम खोलने की तैयारी है। स्टेडियम को लेकर अभी सरकार की ओर से अभी दिशा निर्देश आने हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *