मंत्री ने हिमुडा की ज़मीनों के उपयोग को समिति से मांगी रिपोर्ट

देखें वीडियो: फेसबुक में (संवाद शिक्षा) पर चर्चा के माध्यम कार्यक्रम के बाद क्या बोले शिक्षा मंत्री..


शिमला: फेसबुक पर संवाद शिक्षा पर चर्चा के माध्यम कार्यक्रम के बाद शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि कॉलेज परीक्षाओं को लेकर सरकार के पास कुछ ऑप्शन आए हैं। इसमें एक यह है कि टीचर को जून में दी जाने वाली छुट्टियां अभी से घोषित कर दी जाएं। जून माह में प्रैक्टिकल परीक्षा ली जाए। इसके बाद थ्यौरी की परीक्षा का भी आयोजन किया जाए। कोरोना के चलते अगर स्थिति नोर्मल रही तो जुलाई के अंतिम सप्ताह या अगस्त में पेपर आदि लेकर दाखिले शुरू कर दिए जाएं। इसके बाद यूजीसी की गाइडलाइन के अनुसार सितंबर में नया सत्र शुरू कर दिया जाए।

ऐसे में हिमाचल के सरकारी स्कूलों में 11 मई से विद्यार्थियों के दाखिले ऑनलाइन होंगे। इसके लिए प्रधानाचार्यों, मुख्याध्यापकों और गैर शिक्षक स्कूल बुलाए जाएंगे। फार्म भरने में असमर्थ अभिभावक स्कूल आकर फार्म भर सकते हैं। शनिवार को शिक्षा पर चर्चा विषय को लेकर आयोजित फेसबुक लाइव में शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने यह जानकारी दी। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि सरकारी स्कूलों में दाखिले को लेकर शिक्षा विभाग ने नई योजना तैयार की है। कोरोना कर्फ्यू के बीच 1, 6, 9 और 11वीं के दाखिले प्रभावित ना हो इसके लिए यह योजना तैयार की है। योजना के अनुसार स्कूल के प्रधानाचार्य, मुख्य अध्यापक सहित कुछ नॉन टीचिंग स्टाफ को स्कूल में बुलाया जाएगा। स्कूलों में छात्रों के दाखिले किए जाएंगे। इसको लेकर एक बैठक बुलाकर उसमें रूपरेखा तैयार कर आगामी आदेश जारी किए जाएंगे।

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि जून के प्रथम या दूसरे सप्ताह में 10वीं का रिजल्ट घोषित किया जाएगा। इसके लिए तैयारी शुरू हो गई है। पेपर चेकिंग की प्रक्रिया शुरू हो रही है। इसके बाद परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। 12वीं परीक्षा को लेकर शिक्षा मंत्री ने कहा कि 12वीं के ज्योग्राफी और कंप्यूटर साइंस सहित कुछ वोकेशनल सबजेक्ट पेपर बचे हैं। कोशिश रहेगी कि जैसे ही परिस्थितियों ठीक हों तो ज्योग्राफी का पेपर लिया जाए। ज्योग्राफी में बहुत कम छात्र होते हैं, ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना मुश्किल नहीं होगा। साथ ही अन्य पेपरों को लेकर भी कोई निर्णय लिया जाएगा। जो भी तरीका उपयुक्त होगा अपनाया जाएगा। इसके बाद जून के अंतिम सप्ताह में 12वीं का भी रिजल्ट घोषित कर दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि मीड डे मील और अध्यापन कार्य में टीचरों ने बहुत अच्छा काम किया है। इसके लिए टीचर बधाई के पात्र हैं और उनका वह धन्यवाद करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अगर छात्रों को वर्ल्ड क्लास शिक्षा देनी है तो आईटी को अपनाना होगा। शिक्षा मंत्री ने जानकारी देते हुए कहा कि हिमाचल में 16 अप्रैल से ऑनलाइन पढ़ाई शुरू की थी। अभी एलीमेंटरी में 66 फीसदी और हायर एजुकेशन में 72 फीसदी छात्र इससे जुड़ चुके हैं। बाकी जो छात्र किसी वजह से नहीं जुड़ पाए हैं। उन्हें शिक्षा देने के लिए दूरदर्शन का सहारा लिया जा रहा है। सुबह 10 बजे से एक बजे तक दूरदर्शन के माध्यम से पढ़ाई करवाई जा रही है। इसके अलावा अन्य तरीके भी अपनाए जा रहे हैं।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि एसएमसी शिक्षकों का मामला हाईकोर्ट में है। कोर्ट से स्टे हटाने को आवेदन किया है। फैसला आने के बाद सरकार शिक्षकों के हक में फैसला लेगी। 

सोमवार को प्रदेश सरकार निजी स्कूलों की फीस कम करने पर फैसला लेगी। इसके लिए शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने सोमवार को सचिवालय में शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक बुलाई है। संभावित है कि इस बैठक में मार्च से मई तक की सिर्फ ट्यूशन फीस ही वसूलने के निजी स्कूलों को निर्देश जारी हो सकते हैं।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *