हिमाचल: प्रदेश में कोरोना से दो और लोगों की मौत

 शिमला: कोरोना की खराब परिस्थितियों के चलते रात को करना पड़ा सरकाघाट के युवक का अंतिम संस्कार, महिला HAS अधिकारी रहीं मौजूद 

 

शिमला:  सरकाघाट के 21 वर्षीय युवक की राजधानी शिमला आईजीएमसी अस्पताल में कोरोना वायरस की वजह से मौत हुई थी, उसका अंतिम संस्कार आधी रात को यहां के कनलोग श्मशान घाट में कर दिया गया है। रात करीब सवा 11 बजे एम्बुलेंस में शव को पूरी एहतियात के साथ श्मशान घाट लाया गया और  प्रशासन द्वारा ही शव का अंतिम संस्कार किया। शिमला (शहरी) एसडीएम नीरज चाँदला और आइजीएमसी के एमएस डॉक्टर जनक राज इस दौरान मौजूद रहे।  मृतक का कोई भी परिजन इस दौरान उपस्थित नहीं रहा, क्योंकि सरकाघाट से कोरोना मरीज को लेकर आईजीएमसी आये उसके परिजनों को स्वास्थ्य विभाग ने क्वारन्टीन कर दिया गया है।
वहीं बताया जा रहा है कि  नगर निगम प्रशासन ने शव के अंतिम संस्कार की पूरी प्रक्रिया से किनारा कर लिया। एसडीएम (शहरी) के निर्देश के बावजूद नगर निगम ने श्मशान घाट में अपने कर्मचारी भेजने से साफ इंकार कर दिया। ऐसे में महिला एचएएस अधिकारी व एसडीएम शिमला (शहरी) नीरज चाँदला संस्कार पूरा होने तक श्मशान घाट में रहीं।

एसडीएम शहरी नीरज चाँदला ने बताया कि बीती देर रात शव का कनलोग श्मशान घाट में रीति रिवाज के साथ अंतिम संस्कार किया गया। प्रोटोकॉल के तहत नगर निगम को दो कर्मचारी भेजने के आदेश दिए गए थे। लेकिन उन्होंने कर्मचारी नहीं भेजे। इसकी सरकार से शिकायत की जाएगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *