सीएम ने की टिक्कर में कॉलेज और गैस ऐजेंसी खोलने की घोषणा

विकास कार्यों में भेदभाव नहीं पूरे प्रदेश के एक समान विकास में विश्वास : मुख्यमंत्री

विकास कार्यों में भेदभाव नहीं पूरे प्रदेश के एक समान विकास में विश्वास : मुख्यमंत्री

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज शिमला जिले के रोहड़ू तहसील की नावर घाटी के टिक्कर में डिग्री महाविद्यालय खोलने की घोषणा की। यह महाविद्यालय अगले अकादमिक सत्र से आरंभ किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने टिक्कर में गैस ऐजेंसी खोलने की भी घोषणा की।

वीरभद्र सिंह ने टिक्कर में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए ये घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि वह व्यक्तिगत तौर पर ठियोग-हाटकोटी-रोहड़ू सड़क की प्रगति को जांचेंगे और इसके दृष्टिगत वह शनिवार को सड़क मार्ग से शिमला लौटेंगे। उन्होंने क्षेत्र में संपर्क मार्गों की मुरम्मत व जीर्णोद्धार का आश्वासन देते हुए निर्माणाधीन मार्गों के कार्य को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए।

वीरभद्र सिंह ने लोगों से अपने बच्चों को ग्रामीण क्षेत्रों में खोले जा रहे कॉलेजों में दाखिल करवाने का आह्वान करते हुए कहा कि उन्हें बेहतर शिक्षा की चाह में शहरों की ओर पलायन करने की आवश्यकता नहीं है और प्रदेश सरकार युवाओं को गुणात्मक शिक्षा घरद्वार के समीप उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह विगत 30 वर्षों से भी अधिक समय से प्रदेशवासियों की सेवा में लगे हैं तथा इस कार्य में उन्हें प्रसन्नता व संतोष मिलता है। उन्होंने छठी बार मुख्यमंत्री बनने का श्रेय प्रदेशवासियों को देते हुए कहा कि लोगों के स्नेह और विश्वास के चलते ही वह छठी बार मुख्यमंत्री के रूप में प्रदेश की सेवा कर रहे हैं।

 

  • विकास कार्यों में भेदभाव नहीं पूरे प्रदेश के एक समान विकास में विश्वास : मुख्यमंत्री

वीरभद्र सिंह ने कहा कि राज्य के अस्तित्व में आने के समय से प्रदेश में लगातार सत्तसीन रही कांग्रेस सरकार ने विकास और जनकल्याण के प्रति प्रतिबद्धता से कार्य किया और प्रदेश के विकास की मजबूत नींव रखी। आज प्रदेश के सभी गांव को सड़क सुविधा से जोड़ा जा चुका है और प्रदेशभर में 34 हजार 500 किलोमीटर से अधिक का सड़क नेटवर्क है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 15 हजार से अधिक सरकारी शिक्षण संस्थान हैं और स्वास्थ्य क्षेत्र में हिमाचल देशभर में गुणात्मक सेवाएं उपलब्ध करवाने में अग्रणी है।

उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ मौकापरस्त लोग धर्म और क्षेत्रवाद के नाम पर लोगों को बांटने की ओछी राजनीति करते हैं, लेकिन वह राज्य के हितों को सर्वोपरी रखते हुए ऐसी ताकतों के मंसूबे पूरे नहीं होने देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह क्षेत्रवाद और जातिवाद में भरोसा नहीं करते और भविष्य में भी इसी तरह पूर्ण समर्पण व उत्साह के साथ लोगों की सेवा करते रहेंगे। विपक्ष पर चुटकी लेते हुए वीरभद्र सिंह ने कहा कि वह पूर्व मुख्यमंत्री के गृह नगर का भी समान रूप से ख्याल रखते हैं और नए खोले जा रहे तीन चिकित्सा महाविद्यालयों में से एक महाविद्यालय हमीरपुर में खोला जा रहा है। वीरभद्र सिंह ने कहा कि वह भाजपा की तरह विरोधियों की राजनीतिक संबद्धताओं के आधार पर विकास कार्यों में भेदभाव नहीं करते और पूरे प्रदेश के एक समान विकास में विश्वास रखते हैं।

उन्होंने इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले स्कूली बच्चों को 15 हजार रुपये की धनराशि प्रदान करने की घोषणा की। मुख्य संसदीय सचिव एवं स्थानीय विधायक रोहित ठाकुर ने वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस सरकारों द्वारा क्षेत्र में किए गए कार्यों का विस्तृत उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के प्रत्येक पंचायत मुख्यालय को पक्की सड़क से जोड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

ठाकुर ने क्षेत्र की मुख्य मांगों को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा। उन्होंने टिक्कर में गैस ऐजेंसी खोलने, उप-तहसील टिक्कर के स्तरोन्नयन और टिक्कर में महाविद्यालय खोलने की मांगे मुख्य रूप से मुख्यमंत्री के सामने रखी।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने पुजारली-4 में रूद्र मंदिर परिसर के सौंदर्यकरण के लिए 5 लाख रुपये देने और पशु औषधालय को स्तरोन्नत

 मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह

कर अस्पताल बनाने की घोषणाएं की । उन्होंने बडशाल से घरोट के लिए संपर्क मार्ग के निर्माण का आश्वासन देने के अतिरिक्त देयोली बाजार में वर्षा शालिका और शौचालय सुविधाएं उपलब्ध करवाने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने बडशाल में जनसभा को संबोधित करते हुए राजकीय माध्यमिक पाठशाला बडशाल को उच्च महाविद्यालय के तौर पर स्तरोन्नत करने और बडशाल पुल के निर्माण की घोषणाएं की। उन्होंने प्रशासन को रमतेड़ी-बडशाल-खारला सड़क का मुरम्मत कार्य प्राथमिकता पर करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने धराड़ा ग्राम पंचायत के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बडशाल में 22.11 लाख रुपये की लागत से बनने वाले अतिरिक्त भवन की आधारशिला रखी। इस भवन में कला, क्राफ्ट, संस्कृति और कंप्यूटर कक्ष के अतिरिक्त पुस्तकालय और विज्ञान प्रयोगशाला इत्यादि की सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

उन्होंने सामरा गांव में 13.50 लाख रुपये की लागत से बनने वाले पशु औषधालय भवन का शिलान्यास किया। उन्होंने ग्राम पंचायत सामरा में 80 लाख रुपये की लागत से बनने वाली उठाऊ जलापूर्ति योजना की आधारशिला भी रखी। उन्होंने टिक्कर में 50 लाख रुपये की लागत से बनने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भवन, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला टिक्कर के 16 लाख रुपये की लागत से बनने वाले अतिरिक्त भवन की अधारशिलाएं रखीं। उन्होंने 4.01 करोड़ रुपये की लागत से देयोली-खलाई-दाड़ी कुपर सड़क, 5.82 करोड़ रुपये की लागत से देयोली-घासनी-खलगर सड़क और 5.45 करोड़ रुपये की लागत से घासनीधार-काडीवां- घासनी सड़क के स्तरोन्नयन कार्यों के लिए भूमि पूजन भी किया।

उन्होंने 5.12 करोड़ रुपये की लागत से धनोटी गांव के लिए निर्मित संपर्क मार्ग का लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री ने टिक्कर में 5.86 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान भवन के निर्माण के प्रस्तावित स्थल का दौरा किया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *