सेब सीजन के दौरान जिला शिमला के चयनित क्षेत्रों में छोटी सैटेलाइट मण्डियों होंगी स्थापित : डीसी शिमला

“लॉकडाउन” पर उपायुक्त शिमला क्या बोले, जानें..

  • सभी से उपायुक्त शिमला ने की सकारात्मक सहयोग की अपील …
  • बोले: किसी प्रकार की सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए 104 नम्बर और किसी भी आपतकालीन स्थिति में कोई सहायता प्राप्त करने या जानकारी प्राप्त करने के लिए जिले के केन्द्रीय नियंत्रण कक्ष 1077 पर कर सकते हैं कॉल

शिमला: कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी से उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने सकारात्मक सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा जारी लॉकडाउन की घोषणा के तहत जिला में सभी परिवहन सेवाओं को रोक दिया है, जिसके तहत हिमाचल पथ परिवहन निगम, निजी गाड़ियां, टैक्सियां व अन्य वाहन शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि निजी गाड़ियों का इस्तेमाल मरीजों को लाने व ले जाने के लिए किया जाएगा, जिसकी जांच पुलिस द्वारा की जाएगी। अस्पताल से आने पर मरीज को पर्ची दिखानी आवश्यक होगी। उन्होंने लॉकडाउन के महत्व तथा कोरोना संक्रमण से बचाव की गंभीरता को अपनाते हुए सभी से घरों में रहने की अपील की तथा संक्रमण से बचाव के लिए सभी प्रकार के एहतियात बरतने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि अस्पताल, दवाई, राशन, सब्जी अथवा अन्य आवश्यक वस्तुओं को अति आवश्यकता होने पर ही खरीदने के लिए बाहर आएं, जितना हो सके अपने को घरों की अंदर ही रखें। उन्होंने कहा कि शिमला नगर व जिला के विभिन्न क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं के तहत किराना, सब्जियों, दवाईयों व दूध, ब्रैड, मक्खन, पनीर आदि की दुकानें खुली रहेगी। शेष सभी दुकानें बंद रहेगी। उन्होंने कहा कि सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों के अतिरिक्त निजी डाॅक्टर के क्लीनिक तथा अस्पताल भी खुले रहेंगे।

उन्होंने शिमला नगर व उप-नगर में सब्जियों आदि के दामों को नियंत्रण में रखने के लिए आवश्यक आदेश पारित किए हैं। उन्होंने कहा कि सब्जी मण्डी में सब्जी की बोली पर लाभांश तय किया जाएगा। उन्होंने कहा कि विक्रेताओं द्वारा उप-नगरों पर सब्जी ले जाने के लिए एक रुपया प्रति किलो सब्जी ढुलाई खर्चा जोड़ कर बेचना सुनिश्चित करे।

उन्होंने कहा कि जिले के अन्य क्षेत्रों में उपमण्डलाधिकारियों को इस संबंध में आवश्यक निर्देश जारी किए गए हैं, जिसके तहत वे अपने उपमण्डल के नागरिक आपूर्ति विभाग के निरीक्षकों तथा संबंधित क्षेत्रों के व्यापार मण्डलों व संघों के साथ बैठक कर किराना, सब्जियों व दैनिक आवश्यकता की वस्तुओं के संबंध में उपायुक्त कार्यालय को सूचित करें ताकि आवश्यकता अनुरूप व्यवस्था कर सब्जी, किराना व अन्य रोजमर्रा की उपयोग की वस्तुओं को बिना किसी रोक के गाड़ियों में भेज कर आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके।

उन्होंने कहा कि विभिन्न खाद्य व रोजमर्रा की चीजें तथा सब्जियों के दाम नियंत्रण में रखने के लिए मूल्य नियंत्रण अधिनियम के तहत शिमला व जिला के विभिन्न क्षेत्रों में जांच, निरीक्षण व निगरानी की जाएगी। अनियमितता बरतने वाले के प्रति कठोर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि किसी प्रकार की सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए 104 नम्बर तथा किसी भी आपतकालीन स्थिति में कोई सहायता प्राप्त करने अथवा जानकारी प्राप्त करने के लिए जिले के केन्द्रीय नियंत्रण कक्ष 1077 पर कॉल कर सकते हैं। यह नियंत्रण कक्ष हफ्ते के सातों दिन 24 घंटे कार्य करता रहेगा।

उन्होंने बताया कि जिला शिमला से संबंध रखने वाले विदेशों से आए 19 लोगों की जानकारी प्राप्त हुई है, जिन्हें एकांतवास की प्रक्रिया के तहत रखा गया है।

 

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *